नोएडा: सुप्रीम कोर्ट ने आम्रपाली को सभी प्रोजेक्ट में काम शुरू करने का दिया आदेश

नोएडा: सुप्रीम कोर्ट ने आम्रपाली को सभी प्रोजेक्ट में काम शुरू करने का दिया आदेश

नोएडा। बायर ग्रुप द्वारा सुप्रीम कोर्ट में याचिका डाले जाने के बाद गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट ने आम्रपाली को सभी रुके हुए प्रोजेक्ट में काम शुरू करने का आदेश दिया है। साथ ही आम्रपाली को ढाई सौ करोड़ रुपये सुप्रीम कोर्ट में 15 जून तक जमा कराने का आदेश दिया है। सभी प्रोजेक्ट को तीन कैटेगरी ए, बी और सी में बांटा गया है। ए और बी कैटेगरी के प्रोजेक्ट के सभी प्रोजेक्ट में काम शुरू करने का आदेश दिया गया है। कैटेगरी सी के ग्राहकों को या तो किसी और प्रोजेक्ट में शिफ्ट कराने या फिर पैसे रिफंड करने का आदेश दिया गया है। साथ ही ए और बी के ग्राहकों को ऑफर ऑफ पोजेसन मिलने के तीन महीने के बाद ही सारे पैसे जमा करने को कहा गया है। कोर्ट ने आम्रपाली ग्रुप द्वारा प्रस्तावित तीन को- डेवलपर को प्रोजेक्ट पूरा करने की जिम्मेदारी दी है, जिनमे गैलेक्सी, कनोजिया ग्रुप और आईआईएफएल शामिल हैं। सुप्रीम कोर्ट के आये इस आदेश के बाद आम्रपाली के तमाम खरीदार राहत की सांस ले सकेंगे। लंबे समय के इंतजार के बाद उनके घर उन्हें मिलने की आस फिर से जगी है। नेफोवा ने आम्रपाली के फ्लैट खरीदारों को उनका हक दिलाने में अहम भूमिका निभाई है। सरकार से निराश होने के बाद नेफोवा ने आम्रपाली के करीब दो हजार फ्लैट खरीदारों के साथ सुप्रीम कोर्ट का रूख किया, जिसका परिणाम गुरुवार को सभी प्रोजेक्ट में निर्माण कार्य शुरू करने के आदेश के रूप में मिला है। फ्लैट खरीदारों में खुशी की लहर है। हालाकि बायर्स के लिए चुनौतियां आगे भी हैं कि आम्रपाली सुप्रीम कोर्ट के आदेशों का सही ढंग से पालन करता है या नहीं। संघर्ष अभी आगे तबतक जारी रहेगा जबतक सभी लोगों को उनका घर नही मिल जाता। निश्चित रूप से अब आगे तमाम प्रोजेक्ट को निर्धारित समय सीमा में पूरा होने के साथ साथ फ्लैटों की गुणवत्ता भी एक अहम मुद्दा रहेगा।

Share it
Share it
Share it
Top