संदीप नागर हत्याकांड...थप्पड़ का बदला लेने के लिए की गई थी हिन्दू युवा वाहिनी के नेता की हत्या

संदीप नागर हत्याकांड...थप्पड़ का बदला लेने के लिए की गई थी हिन्दू युवा वाहिनी के नेता की हत्या

ग्रेटर नोएडा। हिन्दू युवा वाहिनी के पूर्व जिला उपाध्यक्ष संदीप नागर की गोली मारकर हत्या के मामले में दनकौर कोतवाली पुलिस ने दो मुख्य आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। हत्या थप्पड़ का बदला लेने के लिए की गई थी। माफी न मांगने पर गोली मार दी। वारदात को अंजाम देने से पहले तीनों ने साथ बैठकर शराब पी थी। पैसे के लेन देन के विवाद में घटना से एक दिन पहले ही मृतक ने एक कार्यक्रम में मुख्य आरोपी को सबके सामने थप्पड़ मार दिया था। पुलिस ने आरोपियों के पास से घटना में प्रयुक्त की गई पिस्टल, कार व मोबाइल फोन बरामद किया है।

हत्याकांड में एक आरोपी अभी भी फरार चल रहा है। ज्ञात हो कि हिन्दू युवा वाहिनी गौतमबुद्धनगर के पूर्व जिला उपाध्यक्ष संदीप नागर निवासी गांव अट्टा गुजरान की बीते 26 नवंबर की रात गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। संदीप नागर का शव 27 नवंबर की सुबह जगनपुर गांव के पास बंधे के नीचे पड़ा मिला था। इस मामले में मृतक के पिता वीर सिंह ने साकीपुर गांव के रहने वाले रिश्तेदार रोहित भाटी, रिंकू भड़ाना मूल निवासी फरीदाबाद व रोहित भाटी के पिता चमन के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कराया था। संदीप नागर आखिरी बार रोहित भाटी और रिंकू भड़ाना के साथ ही देखा गया था। एसपी देहात रणविजय सिंह ने बताया कि घटना की जांच पड़ताल आरोपियों की तलाश में जुटी दनकौर कोतवाली पुलिस ने नामजद अभियुक्त रोहित भाटी और रिंकू भड़ाना को 30 नवंबर की शाम मुखबिर की सूचना पर ईस्टर्न पैरिफेरल यमुना एक्सप्रेसवे अंडरपास के ऊपर पुल पर गिरफ्तार कर लिया। एसपी ने बताया कि अभियुक्तों से पूछताछ में पता चला कि संदीप की हत्या थप्पड़ का बदलना लेने के लिए की थी। बीते 25 नवंबर को गांव दुजाना में ओमपाल प्रधान के भतीजे के रिसेप्शन में संदीप नागर, रोहित भाटी और रिंकू भड़ाना तीनों मित्र शामिल हुए थे। दोस्ती के साथ ही रोहित भाटी रिश्ते में संदीप नागर का जीजा भी लगता है। दुजाना गांव में आयोजित कार्यक्रम के दौरान किसी बात को लेकर तीनों दोस्तों के बीच गाली गलौज व कहासुनी हो गई थी। विवाद बढने पर संदीप नागर ने रोहित को कई लोगों के सामने थप्पड़ मार दिया था। एसपी ने बताया कि इससे उत्तेजित होकर रोहित भाटी और रिंकू भड़ाना ने संदीप नागर को जान से मारने की योजना बनाई। योजना के अनुसार 26 नवंबर की शाम रोहित भाटी और रिंकू भड़ाना फोन कर संदीप को बुलाकर अपने साथ ले गए।

बातचीत के बहाने से बुलाकर ले गए थेः रोहित भाटी के फोन करने पर ही उनकी कार में बैठकर गया था। आरोपियों ने जगत फार्म मार्केट से बीयर और शराब खरीदी तथा उसके बाद शहर काफी देर तक इधर उधर घूमते रहे। दनकौर की तरफ वापस जाते समय रास्ते में गांव जगनपुर के पास गाड़ी रोककर तीनों ने बीयर पी और संदीप नागर को माफी मांगने के लिए कहा। इस पर संदीप नागर और अधिक उत्तेजित हो गया। माफी नहीं मांगने पर आरोपी रोहित भाटी ने अपने दोस्त रिंकू भड़ाना के साथ मिलकर संदीप के सिर में गोली मार दी। हत्या करने के बाद शव को उठाकर बंधे के नीचे फेंक दिया था। पुलिस ने अभियुक्तों के कब्जे से हत्या में प्रयुक्त पिस्टल, कार व तीन मोबाइल फोन बरामद किया है।

नेपाल जाने की फिराक में थे अभियुक्तः संदीप नागर हत्याकांड में गिरफ्तार रोहित भाटी और रिंकू भड़ाना वारदात को अंजाम देकर फरीदाबाद भाग गए थे। पुलिस पूछताछ में पता चला है कि दोनों नेपाल जाने की फिराक में थे।

पांच लाख रूपये के लेन देन को लेकर चल रहा था विवादः हिन्दू युवा वाहिनी के पूर्व जिला उपाध्यक्ष संदीप नागर ने अपने रिश्तेदार व 10 साल पुराने दोस्त रोहित भाटी को 5 लाख रूपये उधार दिए थे। काफी समय बीत जाने के बाद भी पैसे नहीं लौटाने पर संदीप तकादा करना शुरु कर दिया था। पैसे के लेन देन को लेकर दोनों के बीच विवाद चल रहा था। बताया जाता है कि दुजाना गांव में आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान दोनों के बीच पैसे के लेन देन को लेकर ही कहासुनी हुई थी।

Share it
Top