गेझा के खाली प्लॉट में मिले गोवंश अवशेष

नोएडा। कोतवाली फेज 2 के गेझा गांव में वीरवार को खाली प्लॉट में गोवंश के अवशेष मिलने पर स्थानीय लोगों ने जमकर हंगामा काटा। लोगों का आरोप है कि गेझा के मीट दुकानदार ने गोकशी कर उसका बीफ बेचते हैं। इसी बीच हिंदू संगठनों से जुड़े कईं लोग वहां पहुंच गए। पुलिस ने तुंरत मामले की गंभीरता को देखते हुए आरोपितों की गिरफ्तारी का भरोसा दिलाकर उन्हें शांत कराया। पुलिस ने शिकायत पर सात लोंगों को नामजद और आधा दर्जन अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है। पुलिस ने नामजद लोगों में से 5 लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने फरार दो लोगों की गिरफ्तारी के लिए कई जगह दबिश दी है। लेकिन दोनों आरोपित पुलिस के हाथ नहीं लगे हैं। पुलिस का दावा है कि जल्द ही दोनों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा। एसएचओ राजपाल सिंह तोमर ने बताया कि गेझा गांव में बरात घर के पास मीट मार्किट है। वीरवार सुबह साढ़े दस बजे स्थानीय लोगों ने बारात घर के सामने एक खाली प्लॉट में गोवंश के अवशेष पड़े देखे। सूचना पर भारी स्थानीय लोगों वहां पहुंच गए। लोगों ने वहां मीट दुकानदारों के खिलाफ हंगामा काटना शुरू कर दिया। पुलिस ने मीट दुकानदारों की गिरफ्तारी का भरोसा दिलाकर लोगों को शांत कराया। सीओ थर्ड स्वेताभ पांडेय ने बताया कि नामजद मीट दुकानदार फरीद, मोहम्मद रिहान, मईनुद्दीन, रासिद, दिलबर को गिरफ्तार कर लिया गया है। जबकि, गुलाब और गुफरान अभी फरार हैं। आरोपियों पर गोकशी कर बीफ को दुकानों पर बेचने का आरोप है। खाली प्लॉट में गाय और सांड के अवशेष मिले हैं। दुकान पर बिक रहे मीट के नमूने और गोवंश के अवशेष के नमूने को मेडिकल जांच के लिए भेज दिया गया है। जल्द ही फरार आरोपियों को भी गिरफ्तार किया जाएगा। गांव में तनाव की स्थिति को देखते हुए भारी पुलिस बल को तैनात किया गया है।

दुकानदारों पर नहीं मिला मीट का लाइसेंसः पुलिस ने दुकानदारों से मीट बेचने का लइसेंस मांगे तो कई के पास लइसेंस नहीं था। जिस कारण पुलिस ने पूछताछ के लिए उन्हें भी हिरासत में लिया है। आरोपियों ने दुकान पर मीट को ठीक से ढक भी नहीं रखा था और कई की दुकान में फ्रीजर भी नहीं था।

Share it
Share it
Share it
Top