देह व्यापार में लिप्त गेस्ट हाउस संचालक गिरफ्तार

देह व्यापार में लिप्त गेस्ट हाउस संचालक गिरफ्तार

नोएडा। देह व्यापार के लिये किशोरी का अपहरण करने के आरोप में सेक्टर 15 से एक सितंबर को गिरफ्तार हुए आरोपितों के गैंग से गेस्ट हाउस संचालक सुमित भी जुड़ा था। वह अपने गेस्ट हाउस में ही अपहरण या बहला-फुसला कर लाई गई लड़कियों को छिपाता था। सेक्टर 20 कोतवाली पुलिस ने यहां से चार लड़कियों को मुक्त कराते हुए उसे गिरफ्तार कर लिया है। इन्हें भी डॉक्टर हाकिम ने ही अपनी जाल में फंसाया था। इलाज के बहाने इनके प्राइवेट पार्ट की विडियो बनाकर वायरल करने की धमकी दी थी। पुलिस ने गैंग से कई दलालों के साथ करीब 100 लड़कियों व महिलाओं के जुड़े होने का दावा किया है। मंगलवार को रिमांड की अवधि पूरी होने पर पुलिस ने आरोपितों को जेल भेज दिया है।

पुलिस का दावा है कि दिल्ली के सराय कालेखां निवासी सुमित का गैंग की महिला प्रीति, डॉक्टर हाकिम उर्फ मामा, संतोष और सौरभ से संबंध है। हाकिम लड़कियों को प्रीति तक पहुंचाता था और वह उन्हें गेस्ट हाउस के पीछे बने दो कमरों में छिपा देती थी। यहां लड़कियों को सुबह ही छोटे कपड़ों में तैयार करके बैठा कर ग्राहकों को दिखाया जाता था। पुलिस का दावा है कि यह सेक्स रैकेट गैंग है। गैंग से जुड़ी लड़कियों को कुछ लोग 10 से 15 दिन के लिये अपने साथ गोवा, मुम्बई, हरिद्वार सहित अन्य शहरों में लेकर जाते थे। कुछ लड़कियां दिन भर के लिये फ्लाइट से दूसरे शहरों में भेजी जाती थीं। हाकिम से 5 मोबाइल बरामद हुआ है। इसमें सैकड़ों लड़कियों की फोटो है। हाकिम मूलरूप से बिहार का रहने वाला है। वह 15 साल पहले जेजे कॉलोनी में एक छोटे से कमरे में क्लीनिक खोला था। लेकिन पिछले दो साल में उसने काफी तरक्की की और पांच मंजिला मकान बनवा लिया। इसके साथ दो प्लाट और खरीदे हैं। पुलिस से भी इसकी अच्छी सेटिंग थी। आरोप है कि पुलिस की मदद से ही धंधा चला रहा था। दो साल पहले सौरभ और हाकिम साथ मिल कर सेक्टर 8 में धंधा कर रहे थे। जब काम बढ़ा तो उनमें विवाद हो गया। इसके बाद सौरभ सेक्टर 11 और हाकिम सेक्टर 15 में काम करने लगा। ग्राहकों की पसंद के मुताबिक लड़कियां उपलब्ध कराने में दोनों एक-दूसरे की मदद भी करते थे।

Share it
Top