संस्कृत में शपथ लेना चाहती हैं राज्यपाल, नहीं प्रावधान

संस्कृत में शपथ लेना चाहती हैं राज्यपाल, नहीं प्रावधान

देहरादून। उत्तराखंड की हाल ही में नामित राज्यपाल बेबी रानी मौर्या संस्कृत में शपथ ग्रहण करना चाहती हैं। जैसे ही इसकी जानकारी शासन को मिली, इसके लिए तैयारियां शुरू कर दी गई हैं, लेकिन न्यायिक विभाग ने इसमें यह कहते हुए अड़ंगा लगा दिया कि इसे कानूनी वैधता नहीं मिलेगी। इसको लेकर शनिवार को शासन मशक्कत करता रहा। हालांकि अभी तक यह तय नहीं हो पाया कि शपथ हिंदी में होगी या संस्कृत में।

राज्य की नई राज्यपाल रविवार को शपथ गृहण करेंगी और उन्होंने शपथ संस्कृत में लेने की इच्छा जताई है। सूत्रों की मानें तो पूरा शासन राज्यपाल के संस्कृत में शपथ लेने की इच्छा को लेकर असमंजस में फंसा हुआ है। विभागीय अधिकारी इस मामले में कुछ भी कहने से बच रहे है, लेकिन विभागीय सूत्रों की मानें तो शनिवार को दिनभर इस पर मशक्कत चली कि शपथ गृहण समारोह संस्कृत में हो पाएगा या नहीं। दरअसल, न्याय विभाग की तर्क है कि संवैधानिक पदों की शपथ गृहण के लिए हिंदी और अंग्रेजी भाषा का ही प्रावधान है। ऐसे में किसी अन्य भाषा में ली गई शपथ वैधानिक नहीं मानी जा सकती है। अब इस मामले में शासन की समस्या यह है कि किस तरह इस मामले को सुलझाएं। देर शाम तक इस मसले पर मंथन जारी थी।

उधर, शपथ गृहण समारोह को लेकर तमाम तैयारियां चल रही हैं। मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह ने मनोनीत राज्यपाल के शपथ ग्रहण समारोह के तैयारियों की समीक्षा की। रविवार को मनोनीत राज्यपाल बेबी रानी मौर्य के आगरा से चलने और शपथ ग्रहण समारोह के समापन तक की बिन्दुवार समीक्षा की गई। मुख्य सचिव ने सुरक्षा, परिवहन, आवास, आतिथ्य, चिकित्सा आदि जरूरी इंतजामों को फूल प्रूफ करने के निर्देश दिए। बैठक में बताया गया कि जॉलीग्रांट एयरपोर्ट पर मनोनीत राज्यपाल का स्वागत कमिश्नर और डीआईजी गढ़वाल करेंगे। पुलिस द्वारा सलामी दी जाएगी। जीटीसी हेलिपैड पर डीएम, एसएसपी देहरादून राज्यपाल की अगवानी करेंगे।

राजभवन पहुंचने पर मुख्य सचिव और डीजीपी राज्यपाल का स्वागत करेंगे। यहां पर सेना द्वारा सलामी दी जाएगी। बैठक में डीजीपी अनिल रतूड़ी, अपर मुख्य सचिव ओमप्रकाश, प्रमुख सचिव गृह आनंद बर्धन, सचिव गोपन अमित नेगी, सचिव राज्यपाल रविनाथ रमन, सचिव सूचना दिलीप जावलकर, कमिश्नर गढ़वाल शैलेश बगोली, सचिव एसएडी हरबंश सिंह चुघ, एडीजी अशोक कुमार, डीआईजी अजय रौतेला सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।


Share it
Top