चौबेपुर में घर के बाहर सोये पिता-पुत्र की बम मारकर हत्या

चौबेपुर में घर के बाहर सोये पिता-पुत्र की बम मारकर हत्या



वाराणसी। चौबेपुर थाना क्षेत्र के मिल्कोपुर गांव में बदमाशों ने घर के बाहर सो रहे खली चूना व्यवसाई पिता-पुत्र के सिर के पास बम लगाकर उड़ा दिया। शक्तिशाली विस्फोट से दोनों के सिर के चिथड़े दूर जाकर बिखर गए। बुधवार की सुबह घटना की जानकारी होते ही परिजनों में कोहराम मच गया। सूचना पाते ही मौके पर एसएसपी आनन्द कुलकर्णी के साथ क्षेत्रीय पुलिस, कई थानों की फोर्स, क्राइम ब्रांच, डॉग स्क्वायड दस्ता, फोरेंसिक टीम और बम निरोधक दस्ता (बीडीएस) भी मौके पर पहुंच गया। छानबीन में पता चला कि आईओडीडी का उपयोग कर किसी विशेषज्ञ द्वारा वारदात को अंजाम दिया गया हैं। मौके पर तार देख सम्भावना जताई गई कि विस्फोट के लिए खदान में प्रयोग किये जाने वाले जिलेटिन व डेटोनेटर का प्रयोग किया गया है। पुलिस मामले की छानबीन में जुट गई है।

मिल्कोपुर निवासी खली व्यापारी और किसान लालाजी यादव 50 वर्ष अपने पुत्र चंदन यादव 20 वर्ष के साथ गांव के बाहर बने अपने घर के बाहर चारपाई बिछाकर सोये हुए थे। देर रात उनके सिर के नीचे विस्फोटक लगाकर उड़ा दिया गया। रात में तेज आवाज सुन ग्रामीणों और मृतकों के परिजनों ने वाहन का टायर फटने की अावाज समझा था। अलसुबह परिजन और ग्रामीण वहां पहुंचे तो भयावह मंजर देख सिहर उठे। ग्रामीणों ने तत्काल पुलिस को घटना की जानकारी दी।

सूचना पाते ही वहां भारी फोर्स पहुंच गई। इस दौरान वहां आसपास के ग्रामीणों की भारी भीड़ के चलते पहाड़िया-बलुआ मार्ग पर जाम लग गया। वारदात को पुरानी रंजिश से जोड़ा जा रहा है। विस्फोटक बम था या आईओडीडी फिलहाल बीडीएस इसकी जांच कर रहा है। उधर घटना के विरोध में ग्रामीणों ने चंद्रा-बलुआ मार्ग पर हत्‍यारों की गिरफ्तारी की मांग को लेकर चक्‍काजाम कर दिया है। मौके पर मौजूद पुलिस अधिकारी ग्रामीणों को समझाने-बुझाने में लगे हुए हैं। ग्रामीण मृतकों के परिजनों 25-25 लाख रुपये मुआवजा देने की मांग कर रहे हैं।


Share it
Share it
Share it
Top