47 लाख रुपये के बंद हो चुके एक हजार के नोट के साथ दो गिरफ्तार..नेपाल ले जाने की थी तैयारी

47 लाख रुपये के बंद हो चुके एक हजार के नोट के साथ दो गिरफ्तार..नेपाल ले जाने की थी तैयारी

वाराणसी। 47 लाख रुपये के बंद हो चुके एक हजार के नोट नेपाल ले जाने की तैयारी थी। जालसाजों ने झांसा दिया था कि नेपाल में सारे नोट आसानी से बदल लिए जाएंगे। हालांकि इससे पहले ही सटीक मुखबिरी पर क्राइम ब्रांच ने मामले का भंडाफोड़ कर दो आरोपियों को 47 लाख रुपये के बंद हो चुके एक हजार के नोट के साथ पहड़िया मंडी के पास पकड़ लिया। दोनों आरोपियों के खिलाफ सारनाथ थाने में मुकदमा दर्ज किया गया है।

एसपी क्राइम ज्ञानेंद्र नाथ प्रसाद ने बताया कि गिरफ्त में आए आरोपियों की शिनाख्त शिवपुर के ट्रेवल एजेंट देवेंद्र सिंह और कपसेठी के विकास सिंह के तौर पर हुई है। विकास एक प्राइवेट फाइनेंस कंपनी में काम करता है। बंद हो चुके एक हजार के नोट देवेंद्र अपने घर पर रखे हुए था।

रॉयल बुलेटिन की नई एप प्ले स्टोर पर आ गयी है।royal bulletin news लिखे और नई app डाउनलोड करें

इन्हें विकास के माध्यम से नोटबंदी के दौरान एकत्र किया गया था। विकास को जालसाजों ने झांसा दिया था कि वे बंद हो चुके नोटों को नेपाल ले जाकर बदलवा देंगे। इसके बदले जालसाज देवेंद्र और विकास से रुपये ऐंठने की तैयारी में थे। हालांकि, इससे पहले ही दोनों की करतूत की जानकारी मुखबिर के माध्यम से क्राइम ब्रांच की टीम को लग गई और उन्हें बंद हो चुके नोट के साथ पकड़ लिया गया। एसपी क्राइम ने बताया कि दोनों आरोपियों से पूछताछ कर पता लगाया जा रहा है कि जो नोट उनके पास से बरामद हुए हैं, वे किसके थे और कहां से लाए गए थे। दोनों को शुक्रवार को अदालत में पेश कर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

Share it
Top