विश्व में भारत को देखने का नजरिया बदला, 2040 तक बनेगा 'सुपर इकोनॉमी पावर': राजनाथ

विश्व में भारत को देखने का नजरिया बदला, 2040 तक बनेगा सुपर इकोनॉमी पावर: राजनाथ

वाराणसी, केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा शुक्रवार को शुरु किये गए 'सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम (एमएसएमई) सहायता एवं प्रचार' कार्यक्रम को बेरोजगारी दूर करने के साथ देश की अर्थ व्यवस्था मजबूत करने का ठोस कदम बताते हुए कहा कि ऐसे ही प्रयासों के बल पर भारत वर्ष 2040 करीब विश्व की 'सुपर इकोनॉमी पावर' बनेगा। प्रधानमंत्री के संसदीय क्षेत्र वाराणसी के बाड़ालाल पुर स्थित पंडित दीन दयाल हस्तकला संकुल में भव्य समारोह को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि पहली बार किसी प्रधानमंत्री ने सुक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम के लिये चिन्ता की तथा इस सेक्टर को आगे बढ़ाने का इनता बड़ा प्रसास किया।

उन्होंने कहा कि देश के जीडीपी में एमएसएमई का 30 प्रतिशत योगदान है। सरकार के 'एमएसएमई-सहायता प्रचार' का उद्देश्य सुक्ष्म एवं लघु उद्यमियों को आसान शर्तों पर ऋण का इंतजाम करने के साथ अन्य परेशानियों को दूर करना है। इससे निश्चित तौर पर देश की अर्थव्यवस्था मजबूत होगी।

गृहमंत्री ने कहा कि श्री मोदी के नेतृत्व में भारत दुनिया का सुपर इकोनॉमी पावर बनने की राह पर तेजी से चल रहा है। भारत गत साढ़े चार वर्षों में विश्व के 10 प्रमुख आर्थिक देशों में 9वें से 6वें स्थान पर आ गया है। अगले एक साल में फ्रांस को पीछे छोड़कर यह देश 5वें स्थान पर आ जा सकता है। दुनिया में कारोबारी सुविधा देने के मामले में भारत 142 से 77वें स्थान पर पहुंच गया है। इससे देश का आर्थिक तंत्र मजबूत होगा तो हर क्षेत्र में सुधार होगा।

Share it
Top