गाजीपुर में 14 उम्मीदवारों में पांच को ही मिले नोटा से अधिक वोट

गाजीपुर में 14 उम्मीदवारों में पांच को ही मिले नोटा से अधिक वोट

गाजीपुर। लोकसभा चुनाव में गाजीपुर से कुल 14 उम्मीदवार मैदान में थे, जिनमें भाजपा, सपा-बसपा गठबंधन, कांग्रेस, कम्युनिस्ट पार्टी, कम्युनिस्ट पार्टी माले, सुभासपा, प्रगतिशील समाजवादी पार्टी सहित कुछ अन्य क्षेत्रीय दल के साथ निर्दलीय शामिल थे। खास बात यह रही कि गाजीपुर लोकसभा में नोटा को भारी संख्या में वोट मिला। लिहाजा नोटा ने 14 में से नौ उम्मीदवार से अधिक मत प्राप्त किया, जबकि पांच उम्मीदवार ही नोटा से अधिक मत प्राप्त कर सके।

जहां गाजीपुर की जनता ने विकासवाद को धता बताते हुए 51.29 फीसदी मत सपा-बसपा गठबंधन के अफजाल अंसारी के खाते में डाल दिया। वहीं विकासवाद के पोषक केंद्रीय मंत्री एवं भाजपा उम्मीदवार मनोज सिन्हा के खाते में 40.29 प्रतिशत मत दिया, जिसमें अफजाल अंसारी एक लाख 20 हजार 956 मत से विजेता घोषित हुए। गाजीपुर लोकसभा में 6831 लोगों ने किसी को भी अपना समर्थन नहीं सौंपते हुए नोटा का बटन दबाया।

नोटा के समर्थन में बटन दबाने वालों की संख्या इतनी रही कि नोटा की संख्या शिवपाल यादव की पार्टी प्रगतिशील समाजवादी पार्टी, सीपीआई माले सहित कुल नौ उम्मीदवारों को प्राप्त मतों से ज्यादा रही। नोटा के पक्ष में कुल 6831 लोगों ने बटन दबाया जबकि निर्दलीय उम्मीदवार हृदय नारायण सिंह को 6221 मत मिले। प्रसपा के संतोष यादव को 2448 मत, निर्दलिय- वेद प्रकाश 2400, राम प्रवेश शर्मा 3392, राजेश सिंह 1232, राजेश यादव 1822, भरत 949, विजेंद्र वर्मा 1119 वोट मिले हैं। इसी प्रकार सीपीआई माले के ईश्वरी कुशवाहा को 4946 वोट मिले।


Share it
Top