बनारस में जल निगम के जेई और दो ठेकेदारों पर जानलेवा हमला, हालत गंभीर

बनारस में जल निगम के जेई और दो ठेकेदारों पर जानलेवा हमला, हालत गंभीर


वाराणसी। शहर में बदमाश लूट, हत्या और रंगदारी मांगने के साथ अब सरकारी कार्य करा रहे अफसरों और ठेकदारों को भी निशाना बना रहे हैं। यह नजारा देर रात लंका-रवींद्रपुरी मार्ग पर दिखा। यहां पाइप बिछवाने का काम कर रहे जल निगम के जेई सुशील कुमार गुप्ता और ठेकेदार कमलेश सिंह व भूपेंद्र सिंह पर लगभग 10-15 युवकों ने हॉकी-रॉड से प्राणघातक हमला बोल दिया। तीनों को गम्भीर अवस्था में बीएचयू के ट्रामा सेन्टर में भरती कराया गया।
बुधवार को एसएसपी आरके भारद्वाज ट्रामा सेन्टर पहुंचे और घायलाों से घटना की पूरी जानकारी ली। एसएसपी ने इस मामले में लंका थाना प्रभारी को हमलावरों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही का निर्देश दिया।
लंका थाना क्षेत्र के लंका-रवींद्रपुरी मार्ग पर इन दिनों पाइप बिछवाने का कार्य चल रहा है। मंगलवार की देर रात लगभग दो बजे जेई सुशील गुप्ता और ठेकेदार कमलेश सिंह व भूपेंद्र सिंह मजदूरों से काम करावा रहे थे। इसी दौरान वहां बाइक सवार दो युवक आए और खुद को बीएचयू का छात्र बताते हुए काम बंद करने को कहा। जेई और ठेकेदार ने दोनों की बात को अनसुना कर दिया। इसके बाद दोनों वापस लौट गए। थोड़ी देर बाद 10-12 बाइक से लगभग 15 दबंग युवक आए और हॉकी-रॉड से उन पर हमला कर दिया। घायलों की चीख पुकार पर आसपास के लोग जब तक वहां जुटते हमलावर मौके से बीएचयू की तरफ भाग निकले। सूचना पर वहां पहुंची पुलिस ने सभी घायलों को ट्रामा सेन्टर भेजवाया। घटना की जानकारी पर आज अस्पताल में घायलों के परिजन और सहकर्मी भी जुट गये।
इसके अलावा मंगलवार रात ही मलदहिया स्थित राजकीय निर्माण निगम के कार्यालय में घुसकर अवर अभियंता मोहम्मद शऊर खां पर भी दबंग युवकों ने हमला बोल दिया। अभियंता से रंगदारी मांगी गई। दोनों घटनाओं से शासन के इकबाल पर भी सवाल उठने लगा है।

Share it
Top