बीआरडी मेडिकल कालेज में हुए हादसे के विरोध में सपा ने निकाला विरोध मार्च

बीआरडी मेडिकल कालेज में हुए हादसे के विरोध में सपा ने निकाला विरोध मार्च


वाराणसी। गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज में मासूम बच्चों की मौत के विरोध में सोमवार को भी युवा उबलते रहे। जगह-जगह विरोध प्रदर्शन श्रद्धांजलि देने का दौर चलता रहा।
इसी क्रम में लंका स्थित काशी हिन्दू विश्वविद्यालय के सिंहद्वार पर समाजवादी छात्र सभा के बैनर तले जुटे युवाओं ने योगी सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। साथ ही इस हृदय विदारक घटना की निंदा कर प्रदेश सरकार से इस्तीफा भी मांगा। केन्द्र सरकार से घटना की उच्च स्तरीय जांच की मांग भी की।
प्रदर्शन के बाद सपाइयों ने हाथों में काली पट्टी बांधकर रविन्द्रपुरी स्थित प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के संसदीय कार्यालय तक विरोध मार्च निकाला और वहां 5 सूत्रीय मांगों का ज्ञापन कार्यालय प्रभारी शिवशरण पाठक को सौंपा। छात्र सभा के प्रदेश उपाध्यक्ष संदीप सिंह स्वर्णकार का आरोप है कि विरोध प्रदर्शन के लिए निकले कार्यकर्ताओं को पुलिस रास्ते भर खदेड़ने का प्रयास करती रही।
यह हैं 5 सूत्रीय मांगें
सपाइयों की पांच सूत्री मांगों में संपूर्ण घटना की उच्चस्तरीय जांच कराते हुए जिम्मेदार लोगों पर हत्या का मुकदमा दर्ज कर कठोर कार्यवाही, सभी मृत बच्चों के परिजनों को 20-20 लाख रुपये मुआवजा राशि देने, स्वास्थ्य मंत्री का नैतिकता के आधार पर इस्तीफा, मेडिकल कॉलेज की घोर लापरवाही को देखते हुए मान्यता रद्द करने और यूपी सरकार को इस तरह की घटनाओं के प्रति सचेत रहने की सख्त हिदायत देना है।

Share it
Top