दीपोत्सव: मुख्य सचिव ने संत धर्माचार्याें के साथ की बैठक, बताई शासन की मंशा

दीपोत्सव: मुख्य सचिव ने संत धर्माचार्याें के साथ की बैठक, बताई शासन की मंशा


अयोध्या। मुख्य सचिव आरके तिवारी ने तुलसी स्मारक भवन में मंगलवार को संत धर्माचार्याें के साथ दीपोत्सव को सकुशल संपन्न कराने के लिए बैठक कर सुझाव लिए जिसमें प्रमुख पुलिस महानिदेशक ओमप्रकाश सिंह, सचिव गृह अवनीश अवस्थी, सूचना जनसंपर्क विभाग एवं पर्यटन विभाग के निदेशक शिशिर, मंडलायुक्त मनोज मिश्रा, जिलाधिकारी अनुज कुमार झा, पूर्व जिलाधिकारी अनिल कुमार पाठक, जल निगम के सचिव विकास गोठलवाल, विधायक वेद प्रकाश गुप्ता मौजूद रहे।

बैठक को संबोधित करते हुए तोताद्रिमठ महंत जगद्गुरु रामानुजाचार्य स्वामी अनंताचार्य,लक्ष्मण किला महंत मैथिली रमण शरण ने बैठक को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का सराहनीय कदम बताया। रामकोट में स्थित रंग महल महंत रामशरण दास ने दीपोत्सव की व्यवस्था को अभूतपूर्व बताते हुए मुख्य मंत्री योगी के रामनगरी के प्रति निष्ठा पर प्रसन्नता व्यक्त किया। दशरथ महल बड़ास्थान महंत बिन्दुगद्याचार्य देवेंद्र प्रसादाचार्य ने दीपोत्सव में दूसरे के दुख को सुख में बदलने के लिए दीपोत्सव का आयोजन हो रहा है। रसिक पीठाधीश्वर बड़ी जगह जानकी घाट के महंत जनमेजय शरण ने कहा घरती से गगन तक दिवाली ही दिवाली है। उन्होंने रामजन्मभूमि पर लव प्रकाश से पटाघेप होने वाला है।

उन्होंने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की दीपोत्सव का अभूतपूर्व बताया। दिगंबर अखाड़ा महंत सुरेश दास ने कहा योगी आदित्यनाथ की देन है कि संतों से बैठक कर सुझाव और आशीर्वाद लिया जाता है। दीपोत्सव मुख्यमंत्री की देन है। वह घन्यवाद और साधुवाद के पात्र हैं। दीपोत्सव रामनगरी में त्रेतायुग से ही मनाया जाता है। हर घर में हजारों दीप जले। महंत कमलनयन दास ने कहा कि मुख्यमंत्री का ध्यान सदैव अयोध्या की तरफ रहता है। उन्होंने सरयू जल पर और अधिक प्रयास करने पर बल दिया। उन्होंने सरयू नदी के बह रहे नालों पर चिंता व्यक्त किया। उन्होंने सभी मठ-मंदिरों के संत-धर्माचार्यों से दीपोत्सव मनाने की अपील किया। दीपोत्सव पांच दिन मनाने के लिए बहुत सुंदर है। रामचरितमानस भवन के महंत अवध बिहारी दास अर्जुन ने सरयू में बालू निकालने पर चिंता व्यक्त किया और प्रशासन से अपील किया। बैठक में अधिकारियों की तरफ से संचालन करते हुए प्रमुख सचिव गृह, सूचना, पर्यटन अवनीश अवस्थी ने रामनगरी में हो रहे विकास कार्यों पर संत धर्माचार्याें को अवगत कराया।

उन्होंने बताया कि सरयू में गिर नाले और नाले की टैपिंग पर कहा कि 35 प्रतिशत काम पूरा हो चुका है। जल निगम पांच दिन में सीवर चोक को खुलवाया जाएगा। तीन दिन में धूल को साफ करा दिया जाएगा। डीजीपी ओमप्रकाश सिंह ने संत धर्माचार्याें को सम्बोधित करते हुए कहा कि मैं आपका आशीर्वाद लेना चाहता हूं। पिछले ढाई साल में कानून व्यवस्था को पटरी पर लाया गया है। विधायक वेद प्रकाश गुप्ता ने संत धर्माचार्याें को सम्बोधित करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की मंशा है कि दीपोत्सव में जनसहभागिता बढ़ावा दिया जाए जिसके तहत प्रशासन दिन रात मेहनत कर रहा है जिसमें संतों की अहम भूमिका है।

बैठक में आए संत धर्माचार्याें ने कहा कि रामनगरी का विकास योगी सरकार में अभूतपूर्व हुआ है जिसमें दीपोत्सव पर्व से पूरे देश में पुनः अयोध्या का नाम सामने आया है। संतों ने कार्यक्रम स्थल पर पहुंचने के लिए सुलभ व्यवस्था के लिए पास की व्यवस्था का सुझाव दिया। बैठक में संतों की तरफ से संचालन अयोध्या संत समिति के अध्यक्ष सनकादिक आश्रम के महंत कन्हैया दास ने किया।

बैठक में मणिराम दास छावनी के उत्तराधिकारी महन्त कमलनयन दास, रंगमहल महंत रामशरण दास, दशरथ महल बड़ास्थान महंत बिन्दुगद्याचार्य देवेंद्र प्रसादाचार्य, दिगंबर अखाड़ा महंत सुरेश दास, बड़ी जगह के महंत जनमेजय शरण, रामकोट रामाश्रम उत्तराधिकारी महंत जयराम दास, जगद्गुरू स्वामी राघवाचार्य, तोताद्रिमठ महंत जगद्गुरु रामानुजाचार्य अन्नताचार्य , डांडिया मंदिर महंत महामंडलेश्वर गिरीश दास,बड़े भक्त माल के महंत अवधेश दास, रामचरितमानस भवन के महंत अवध बिहारी दास, लक्ष्मण किला महंत मैथिली रमण शरण, भाजपा नेता आशीष मिश्र, हरिधाम के महंत रामानुजाचार्य जगद्गुरु रामदिनेशाचार्य, अयोध्या सी ओ अमर सिंह, अपर जिलाधिकारी नगर वैभव शर्मा, दिगंबर अखाड़ा से आशुतोष सिंह,रानोपाली उदासीन आश्रम के महंत डॉ. भरत दास, आश्रम व्यवस्थापक संत माधवानन्द, चौबुरजी मंदिर महंत बृजमोहन दास, रावत मंदिर महंत राममिलन दास, बावन मंदिर महंत वैदेही बल्लभ शरण,अयोध्या शोध संस्थान निदेशक वाई पी सिंह, प्रबंधक रामतीर्थ सहित प्रमुख संत महंत के साथ रामनगरी के वरिष्ठ नागरिक, जिले के सभी आलाधिकारी, पत्रकार गण उपस्थित रहे।


Share it
Top