गाजियाबाद पुलिस लाइन से मोटरसाइकिल चुराकर वर्दी में भाग रहा फर्जी सिपाही गिरफ्तार

गाजियाबाद पुलिस लाइन से मोटरसाइकिल चुराकर वर्दी में भाग रहा फर्जी सिपाही गिरफ्तार


बलिया। गाजियाबाद पुलिस लाइन से मोटरसाइकिल चुराकर पुलिस की वर्दी में जा रहे वाहन चोर को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार फर्जी सिपाही चोरी की मोटरसाइकिल को बिहार में बेचने जा रहा था।

पुलिस अधीक्षक देवेन्द्र नाथ ने शनिवार को बताया कि आगामी दशहरा, दीपावली व छठ को देखते अपराधियों के विरुद्ध चल रहे अभियान के अन्तर्गत बीती रात को रसड़ा कोतवाली के एसआई धर्मेन्द्र कुमार सिंह को मुखबीर से यह सूचना मिली कि एक व्यक्ति चोरी की मोटरसाइकिल लेकर रसड़ा के रास्ते होते हुए बिहार जाने वाला है। यह भी जानकारी मिली कि वह व्यक्ति पुलिस को चकमा देने के आशय से पुलिस की वर्दी पहने हुए है। इस सूचना पर विश्वास कर धर्मेंद्र कुमार सिंह ने सड़ौली पुलिया के पास चेकिंग शुरू की। थोड़ी ही देर मे एक व्यक्ति पुलिस की वर्दी में मोटरसाइकिल से आता हुआ दिखाई दिया। जिसको पुलिस बल की मदद से रोककर रात पौने नौ बजे पकड़ लिया गया।

पकड़ में आया शख्स पुलिस की वर्दी में था, जिसके नेमप्लेट पर राजबीर यादव अंकित था। उससे नाम पता पूछा गया तो पहले तो उसने अपना नाम राजबीर यादव ग्राम बजरिया थाना कोतवाली जिला गाजियाबाद बताया। मोटरसाइकिल यामाहा R-15 के बारे में पूछा गया तो पहले धौंस जमाते हुए इधर-उधर की बात करने लगा। जब कड़ाई से पूछताछ की गयी तो अपनी गलती की माफी मांगने लगा। फिर उसने बताया कि मेरा असली नाम रमित पाल सिंह निवासी चौकी बजरिया, गाजियाबाद है। मैं कही भी सिपाही नहीं हूं। एक मोटरसाइकिल गाजियाबाद पुलिस लाईन से चोरी की थी, जिस पर एक बैग भी था। उसी में यह वर्दी रखी हुई थी, इसी वर्दी को पिछले दो वर्षों से पहन रहा हूं।

पुलिस के अनुसार, यह मोटरसाइकिल युवक ने उझानी बदायूं से इसी वर्दी को पहन कर ट्रायल लेने के बहाने एक व्यक्ति से लेकर भाग निकला था। इसके बाद गाजियाबाद पुलिस लाइन से चोरी की गयी मोटरसाइकिल को उसी व्यक्ति को दे दिया था, जिसकी R-15 लेकर मैं ट्रायल के बहाने भाग निकला था। जिसे वह शुक्रवार रात बेचने के लिए बिहार लेकर जा रहा था।


Share it
Top