जौनपुर में पूर्व सांसद उमाकांत यादव और उनके दो पुत्रों पर मुकदमा दर्ज

जौनपुर में पूर्व सांसद उमाकांत यादव और उनके दो पुत्रों पर मुकदमा दर्ज


जौनपुर- उत्तर प्रदेश में जौनपुर जिले के शाहगंज कोतवाली में पुलिस अधीक्षक रविशंकर छवि के निर्देश पर पूर्व सांसद उमाकांत यादव और उनके दो पुत्रों के खिलाफ बदसलूकी, तोड़फोड़ तथा धमकी के आरोप में मुकदमा दर्ज कराया गया है।

पुलिस प्रवक्ता ने रविवार को यहां यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि शाहगंज कोतवाली क्षेत्र के हुसैनगंज मोहल्ला निवासी केदारनाथ जायसवाल ने पुलिस अधीक्षक रविशंकर छवि को प्रार्थना पत्र देकर बताया कि उनकी भादी गांव स्थित आजमगढ़ मार्ग पर जमीन है। उस जमीन पर जायसवाल विद्या मंदिर स्कूल आगे के हिस्से में दुकानें बनी हैं। इस बेशकीमती भूमि पर पूर्व सांसद उमाकांत यादव की नजर है।

जायवाल ने अपने प्रार्थना पत्र में कहा कि 18 अगस्त को पूर्व सांसद अपने पुत्र दिनेशकांत और रविकांत के साथ किराएदार राजेश गुप्ता के मेडिकल स्टोर की दुकान पर पहुंचे और उसे तत्काल खाली करने का दबाव बनाने लगे। जिसका विरोध करने पर दुकानदार को गली गलौज देते हुए दुकान से 50 हजार रुपए मूल्य से अधिक की दवाएं बाहर फेंक दी। इतना ही नहीं उन लोगों ने अन्य दुकानदारों को भी तत्काल दुकान खाली करके भाग जाने की हिदायत के साथ नहीं खाली करने पर अंजाम भुगतने की धमकी दी।

इस मामले को गंभीरता से लेते हुए पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर कोतवाली पुलिस ने पूर्व सांसद और उनके दो पुत्रों पर धारा 504, 506, 427 भारतीय दण्ड विधान के तहत शनिवार रात मुकदमा दर्ज कराया गया है। पुलिस मामले की जांच में जुटी है।


Share it
Top