आर्मी चीफ पर विवादित पोस्ट करना पत्रकार को महंगा पड़ा, क्राइम ब्रांच को मिली जांच

आर्मी चीफ पर विवादित पोस्ट करना पत्रकार को महंगा पड़ा, क्राइम ब्रांच को मिली जांच


वाराणसी। जम्मू-कश्‍मीर मामले को लेकर थलसेना प्रमुख जनरल विपिन रावत के बारे में सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक टिप्पणी करने वाले युवक के प्रति लोगों में आक्रोश व्याप्त है। इस मामले को लेकर अधिवक्ता सौरभ तिवारी रविवार को एसएसपी आनन्द कुलकर्णी से मिले और उस युवक के खिलाफ कार्यवाही करने की मांग की। एसएसपी ने अधिवक्ता से पूरे मामले की जानकारी लेने के बाद एसपी क्राइम ब्रांच को जांच कर कार्रवाई करने का निर्देश दिया।

अधिवक्ता सौरभ तिवारी ने बताया कि अपने को पत्रकार बताने वाले प्रशान्त कन्नौजिया नामक व्यक्ति ने अपने ट्विटर पर 10 अगस्त की शाम 7.41 पर एक विवादित पोस्ट डाली जिसमें आर्मी चीफ जनरल विपिन रावत की तुलना जलियांवालाबाग कांड के जनरल डायर से की है। साथ ही जनरल डायर और विपिन रावत की तस्‍वीरें भी शेयर की हैं। एक को कश्‍मीर से जोड़ा है तो दूसरे को जलियांवाला बाग कांड से। अधिवक्ता ने आरोप लगाया कि आरोपित पत्रकार ने अभिव्यक्ति के सारे दायरे तोड़ दिए हैं। उसका यह पोस्ट समाज में वैमनस्यता फैलाने वाला है और पत्रकार सोची समझी रणनीति के तहत लोगों को भड़का रहा है। अधिवक्ता की शिकायत पर एसएसपी ने इस मामले की जांच क्राइम ब्रांच को सौंपी है।


Share it
Top