परमवीर चक्र विजेता शहीद अब्दुल हमीद की पत्नी रसूलन बीबी का निधन, मुख्यमंत्री योगी ने जताया शोक

परमवीर चक्र विजेता शहीद अब्दुल हमीद की पत्नी रसूलन बीबी का निधन, मुख्यमंत्री योगी ने जताया शोक


गाजीपुर। परमवीर चक्र विजेता शहीद वीर अब्‍दुल हमीद की पत्‍नी रसूलन बीबी (95 वर्ष) का शुक्रवार की दोपहर को निधन हो गया। रसूलन बीबी ने अपने पौत्र जमील आलम के दुल्‍लहपुर स्थित आवास पर अंतिम सांस ली। वह काफी समय से बीमार चल रही थीं। उनके निधन की जानकारी होने के बाद आवास पर लोगों के पहुंचने का सिलसिला शुरू हो गया है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रसूलन बीवी के निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि गाजीपुर निवासी वीर अब्दुल हमीद ने 1965 में पाकिस्तान के साथ युद्ध में पराक्रम दिखाते हुए सर्वोच्च बलिदान दिया था। रसूलन बीवी का जीवन प्रेरणादायी है। देश की गंगा-जमनी तहजीब को जीवित रखते हुए वीर अब्‍दुल हमीद की स्‍मृतियों को सहेजने में उनका विशेष योगदान है।

दुल्‍लहपुर थाना क्षेत्र के धामुपुर गांव के रहने वाले परमवीर चक्र विजेता वीर अब्‍दुल हमीद 1965 में खेमकरण सेक्‍टर में पाकिस्तान से जंग लड़ते समय शहीद हो गये थे। उन्हें मरणोपरांत सेना के सर्वोच्च सम्मान परमवीर चक्र से सम्मानित किया गया था।

10 सितम्बर 1965 को जब पाकिस्तान की सेना अमृतसर को घेरकर उसको अपने नियंत्रण में लेने को तैयार थी, अब्दुल हमीद ने उसे अपने अभेद्य पैटर्न टैंकों के साथ आगे बढ़ते देखा। प्राणों की चिंता न करते हुए अब्दुल हमीद ने अपनी तोप युक्त जीप को टीले के समीप खड़ा किया और गोले बरसाते हुए शत्रु के कई टैंक ध्वस्त कर डाले। इससे पाकिस्‍तानी सेना के पैर जंग के मैदान में बुरी तरह उखड़ गए और उनको पीछे लौटना पड़ा।

सेना से हमेशा मिला सम्मान

जनवरी 2017 में विपिन रावत के नए आर्मी चीफ बनने के बाद रसूलन बीबी ने उनसे मुलाकात की थी और ये आग्रह किया था कि वह एक बार उनके शहीद पति को श्रद्धांजलि देने के लिए उनके मेमोरियल आएं। हर साल 10 सितम्बर को शहीद अब्दुल हमीद का परिवर उनके लिए एक सभा का आयोजन करता है। इसके बाद शहीद परमवीर चक्र अब्दुल हमीद की पत्नी की वृद्धावस्था को देखते हुए जनरल रावत खुद गाजीपुर पहुंचे थे।


Share it
Top