वाराणसी में कब्र से निकाला डॉक्टर का शव, हत्या की आशंका

वाराणसी में कब्र से निकाला डॉक्टर का शव, हत्या की आशंका


वाराणसी। उत्तर प्रदेश में वाराणसी के आदमपुर क्षेत्र के कब्रिस्तान से मंगलवार को करीब छह महीने बाद आजमगढ़ के पूर्व उप मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ0 रफीक का शव कब्र से निकालकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा गया।

पुलिस सूत्रों ने बताया कि सलेमपुर-मछोदरी निवासी डॉ0 रफीक की मां ने बेटे की हत्या की आशंका व्यक्त करते हुए आजमगढ़ के वरिष्ठ पुलिस अधिकरी एवं जिलाअधिकारी से जांच की गुहार लगायी थी। जिलाधिकारी के आदेश पर कड़ी सुरक्षा के बीच यहां के लाट सैरया क्षेत्र में कब्रिस्तान स्थित डॉ0 रफीक की कब्र की खुदाई कर शव निकाल कर उसे पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा गया।

उन्होंने बताया कि 23 दिसंबर 2018 को वाराणसी के आदमुपर में रह रहे मृतक के परिवार को सूचना दी गई थी कि डॉ0 रफीक के मृत्यु हृदय गति रुकने के कारण हो गई। यह सूचना आजमगढ़ में डॉ0 रफीक के ससुराल पक्ष की एक अन्य महिला ने दी थी। उस वक्त शव को परिवार की रजामंदी से दफना दिया गया लेकिन कुछ दिनों बाद मां को बेटे की हत्या साजिश के तहत किये जाने की आशंका होने लगी। इस आधार पर उसने आजमगढ़ के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक एवं जिलाधिकारी से जांच गुहार लगायी थी।

सूत्रों ने बताया कि मृतक के परिवार वालों का कहना है कि डॉ0 रफीक आजमगढ़ में उप मुख्य चिकत्सा अधिकारी के पद पर तैनात थे और मूल रुप से वाराणसी के रहने वाले थे। उनकी ससुराल आजमगढ़ में है।


Share it
Top