सिचाई मंत्री ने वरूणा कॉरिडोर का किया औचक निरीक्षण, दिसम्बर से पूर्व निर्माण कार्य पूरा करने का निर्देश

सिचाई मंत्री ने वरूणा कॉरिडोर का किया औचक निरीक्षण, दिसम्बर से पूर्व निर्माण कार्य पूरा करने का निर्देश




वाराणसी। उत्तर प्रदेश के सिंचाई एवं सिचाई (यांत्रिक) मंत्री धर्मपाल सिंह ने रविवार को वरूणा कॉरिडोर का औचक निरीक्षण किया। मंत्री ने कॉरिडोर के कच्छप गति से चले रहे निर्माण कार्य को दिसंबर से पूर्व पूरा कराए जाने की समय सीमा भी तय कर दी। पर्याप्त धनराशि उपलब्ध होने के बावजूद वरुणा कॉरिडोर के निर्माण कार्य की धीमी प्रगति पर मंत्री ने विभागीय अफसरों को फटकारते हुए कहा कि 70 फ़ीसदी निर्माण कार्य पूर्ण हो चुका है। शेष कार्य को दिसंबर तक पूर्ण कराकर प्रधानमंत्री अथवा मुख्यमंत्री से इसका लोकार्पण कराया जाएगा। उन्होंने विशेष रूप से जोर देते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार विलुप्त हो रही नदियों को बचाने का कार्य कर रही है। वरुणा नदी भी लगभग विलुप्त होने की स्थिति में पहुंच गई थी और इसमें निहायत प्रदूषित एवं काली पानी रहता था। लेकिन आज वरुणा नदी के चैनेलाइजेशन कार्य के पश्चात नदी के पानी का स्तर सुधरा है और भविष्य में वरुणा कॉरिडोर के निर्माण कार्य पूरा हो जाने पर यह स्थल काशीवासियों को बहुत अच्छी सौगात होगी।

वरुणा कॉरिडोर निर्माण के दौरान किनारे की तरफ़ बनाए जा रहे फुटपाथ के नीचे से मिट्टी की हो रही कटान की जानकारी होने पर मंत्री ने इसे गंभीर प्रकरण बताया। उन्होंने मौके पर मौजूद सिंचाई विभाग के एमडी को निर्देशित किया कि इस प्रकरण को व्यक्तिगत रूप से देखें और यदि कोई समस्या आ रही है तो उसका तत्काल निस्तारण सुनिश्चित कराएं। निरीक्षण के बाद चलते समय धर्मपाल सिंह ने मौके पर मौजूद सिंचाई विभाग सहित यूपीपीसीएल के अभियंताओं को कड़े निर्देश देते हुए हिदायत दी कि कोरिडोर के निर्माण कार्य में अब किसी भी दशा में समय सीमा नहीं बढ़ाया जाएगा।

Share it
Top