राजभर का आरोप, जनता की नहीं सुनती पुलिस

राजभर का आरोप, जनता की नहीं सुनती पुलिस

बलिया। उत्तर प्रदेश में कानून व्यवस्था को दुरूस्त करने का दावा करने वाली योगी आदित्यनाथ सरकार के एक मंत्री ने पुलिस पर कार्यकर्ताओं के उत्पीडऩ का आरोप लगाया है।

दरअसल, राज्य मंत्री एवं सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (सुभासपा) के अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर गुरूवार को बलिया के रसडा पुलिस थाने अपने समर्थकों के साथ गये थे। उनका आरोप था कि थानाध्यक्ष कार्यकर्ताओं का उत्पीडन कर रहे है और आम जनता की समस्यायों से उन्हे कोई सराकोर नही है। योगी सरकार को समय-समय पर कठघरे में खडा करने वाले श्री राजभर ने सुबह रसड़ा में जनता दरबार लगाया और पुलिस के खिलाफ जन शिकायतों का अंबार लगा होने का हवाला देते हुए थानाध्यक्ष को तलब किया। सुभासपा नेता ने फोन पर कहा कि बार-बार फोन लगाने पर भी थानाध्यक्ष ने मौके पर आने से इंकार कर दिया, जिसके कारण मुझे पुलिस स्टेशन जाने के लिये मजबूर होना पडा। थाने के बाहर पुलिस अधिकारियों और सुभासपा समर्थकों के बीच खासी नोकझोंक हुई। इस बीच कुछ लोगों ने पुलिस और समर्थकों के बीच हुई कहासुनी का वाक्या कैमरे में कैद कर इसे सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया। मंत्री ने आरोप लगाया कि पुलिस जनता के खिलाफ काम कर रही है। गरीब लोगों की शिकायत सुनने के लिये पुलिस तैयार नही है। पुलिसकर्मी सुभासपा समर्थकों का उत्पीडन कर रहे है और यदि वे शिकायत करने पुलिस थाने जाते हैं तो उन्हे थाने के बाहर ही रोक लिया जाता है। इस बीच विवादित बयानो के लिये चर्चित बेरिया विधानसभा क्षेत्र के विधायक सुरेन्द्र सिंह ने कहा कि हिन्दुत्व की रक्षा के लिये हर हिन्दू जोड़े को कम से कम पांच बच्चों को जन्म देना चाहिये। श्री सिंह ने बुधवार देर शाम पत्रकारों से कहा कि हिन्दुत्व को बरकरार रखने के लिये देश की जनसंख्या में हिन्दू आबादी को बढाने के जरूरत है। उन्होंने कहा कि हर महंत की इच्छा है कि प्रत्येक हिन्दू परिवार में कम से कम पांच बच्चे हो। इस तरह आबादी नियंत्रण में रहेगी और हिन्दुत्व बरकरार रहेगा।

Share it
Top