सहारनपुर : शराब पार्टी आयोजित करने वाले मेडिकल काॅलेज के एमबीबीएस के छात्रों पर गिरी गाज, 96 छात्र कई माह के लिए निष्कासित

सहारनपुर : शराब पार्टी आयोजित करने वाले मेडिकल काॅलेज के एमबीबीएस के छात्रों पर गिरी गाज, 96 छात्र कई माह के लिए निष्कासित


सहारनपुर(गौरव सिंघल)। सहारनपुर का राजकीय मेडिकल कालेज छात्रों की अनुशासनहीनता प्राचार्य का कुप्रबंधन और दुव्र्यवहार इस कालेज की बड़ी समस्या बन गया है और वहां विवाद रूकने का नाम नहीं ले रहे हैं। कालेज छात्रावास में जन्मदिन पर 14 सितंबर की रात को शराब पार्टी आयोजित करने एवं छात्रों द्वारा आपस में गाली गलौज करने, पत्थरबाजी करने की घटनाओं में शामिल कालेज के एमबीबीएस के 2017 बैच के 50 छात्र और 2016 बैच के 46 छात्र जांच में अनुशासनहीनता के दोषी पाए गए। प्राचार्य डा. अरविंद त्रिवेदी ने आज बताया कि कालेज के हालत उनसे नहीं संभल रहे हैं। वह यहां के हालात से परेशान होकर शासन को इस्तीफा भी भेज चुके हैं। राज्य सरकार के उच्च शिक्षा विभाग ने सहारनपुर मेडिकल कालेज की समस्याओं को अभी तक गंभीरता से नहीं लिया है। प्राचार्य अरविंद त्रिवेदी इस कालेज में ना तो कालेज के छात्रों को अनुशासन में रख पा रहे हैं और ना ही शिक्षा को सही ढंग से दिला पा रहे हैं। कालेज में पढ़ाई का माहौल ना होकर गुंडागर्दी में बदल रही है। राज्य सरकार को इस बावत सारी जानकारी होने के बावजूद मूक बधिर बनकर किसी बड़े घटना का इंतजार कर रही है।

कालेज के हालात से चिंतित जिलाधिकारी आलोक पांडे ने एसडीएम दीप्ती देव यादव को आज जांच के लिए मेडिकल कालेज भेजा। एसडीएम ने कालेज में तैनात गार्डों और छात्रों के वार्डनों के बयान भी दर्ज किए। आरोपी छात्रों से भी पूछताछ की। ध्यान रहे 14 सितंबर की रात को कालेज के होस्टल में 2017 बैच के छात्रों ने बिना अनुमति के शराब पार्टी का आयोजन किया था और खाली बोतलें जूनियर छात्रों के होस्टल की ओर फेंकी थी। 96 छात्र अनुशासन के दोषी पाए गए। 2016 बैच के दोषी छात्र को तीन माह के लिए होस्टल से और दो सप्ताह के लिए शिक्षण कार्यों से निलंबित कर दिया गया और सभी 96 छात्रों पर दो-दो हजार रूपए का आर्थिक दंड भी लगाया गया।

Share it
Top