सहारनपुर : अंबेडकर प्रतिमा तोड़ने को लेकर पथराव और सड़क जाम मामले में 77 नामजद..400 अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज

सहारनपुर : अंबेडकर प्रतिमा तोड़ने को लेकर पथराव और सड़क जाम मामले में 77 नामजद..400 अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज


-कोई गिरफ्तार नहीं

सहारनपुर (गौरव सिंघल)। सहारनपुर देहात कोतवाली पुलिस ने गांव घुन्ना में डा. भीमराव अंबेडकर की प्रतिमा तोड़े जाने और उसके विरोधस्वरूप शाकुम्बरी देवी सड़क मार्ग पर जाम लगाने, देवी दर्शनों को जा रहे श्रद्धालुओं और पुलिस बल पर पथराव करने के मामले में प्रभारी निरीक्षक मुनेंद्र सिंह की ओर से 77 नामजद और 400 अज्ञात लोगों के खिलाफ आईपीसी की धारा 307, 353, 342, 336, 332, 504, 147, 148, 149 और सात क्रिमिनल एक्ट की धाराओं में मुकदमा दर्ज किया है।

पुलिस और खुफिया एजेंसियां अराजक तत्वों को चिन्हित करने के काम में लगी है। जिन लोगों को पुलिस ने मुकदमें में नामजद किया है उनमें इस गांव का अनुसूचित जाति का नरेश कुमार पुत्र सिंगारू भी शामिल है। इसी ने पुलिस को गांव में लगी अंबेडकर प्रतिमा तोड़े जाने की सूचना भी दी। एसएसपी ने कहा जिन भी असामाजिक तत्वों ने मूर्ति तोड़ी, हिंसा, उपद्रव किया उन्हें किसी भी सूरत में बख्शा नहीं जाएगा। मूर्ति तोड़े जाने की खबर पुलिस को कल लगी थी। प्रशासन ने उसी स्थान पर डा. अंबेडकर की नई मूर्ति स्थापित करा दी थी। उसके बावजूद गांव के कुछ लोगों ने माहौल बिगाड़ने का काम किया। पुलिस और आमजन समेत एक दर्जन के करीब लोग पथराव में घायल हो गए थे।

पुलिस ने बल प्रयोग कर उपद्रवियों को खदेड़ा था। एसपी सिटी विनीत भटनागर ने बताया कि नामजद आरोपी और संदिग्ध अराजक तत्व फरार हैं। पुलिस उनकी गिरफ्तारी के प्रयासों में लगी हुई है। पथराव में जिन लोगों को चोटें आईं उनमें सीओ सिटी मुकेश मिश्र, थाना प्रभारी मुनेंद्र सिंह, नकुड़ क्षेत्र के खेड़ा अफगान निवासी राहुल पुत्र राजेंद्र, महेश पुत्र भोपाल, विश्वास पुत्र सुंदर काला, बहादुर पुत्र चंद्रसेन, जाॅनी पुत्र राजसिंह, सन्नी पुत्र पवन आदि शामिल हैं। नामजद आरोपियों में भूरा पुत्र महेंद्र, अनूप पुत्र ताराचंद, सचिन पुत्र बाल्लो, सचिन पुत्र इंदर, अजय पुत्र बलदेवा, नरेश पुत्र सिंगरू आदि इसी गांव के दलित समाज के लोग शामिल हैं। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि ऐसी सूचनाएं मिली हैं कि इसी गांव के अनुसचित जाति के लोगों द्वारा ही डा. अंबेडकर की मूर्ति को खंडित किया गया। इस गांव की आबादी ढाई हजार के करीब हैं और 1800 सौ वोट हैं और यह गांव मिश्रित आबादी का क्षेत्र है।

Share it
Top