कैराना लोकसभा उपचुनाव में रालोद उम्मीदवार तब्बसुम के परिवार में विद्रोह, देवर कंवर हसन ने लगाए गंभीर आरोप

कैराना लोकसभा उपचुनाव में रालोद उम्मीदवार तब्बसुम के परिवार में विद्रोह, देवर कंवर हसन ने लगाए गंभीर आरोप

सहारनपुर (गौरव सिंघल)। 28 मई को कैराना लोकसभा उपचुनाव में रालोद प्रत्याशी तब्बसुम बेगम को उनके देवर और लोकदल प्रत्याशी कंवर हसन से कड़ी चुनौती मिल रही है। तब्बसुम बेगम के देवर कंवर हसन और दूसरे देवर कैराना पालिकाध्यक्ष अनवर हसन दोनों ने रालोद प्रत्याशी तब्बसुम और उनके बेटे कैराना के सपा विधायक पर आरोप लगाया कि वे वोटों के लालच में ऐसी पार्टी की उम्मीदवार बनीं हैं जिन लोगों पर 2013 में मुजफ्फर नगर में सांप्रदायिक दंगे में गरीब और बेसहारा मुस्लिमों पर अत्याचार ढाने के आरोप है। उन्होंने कहा कि रालोद मुस्लिम विरोधी पार्टी है और तब्बसुम बेगम ने सपा छोड़कर जाट वोटों के लालच में रालोद का दामन थामा है इसलिए मुस्लिम समाज इसे कभी स्वीकार नहीं करेगा।
ध्यान रहे कि 2 सांसद मुनव्वर हसन की कुछ साल पूर्व सड़क हादसे में मौत के बाद से उत्तराधिकार को लेकर मुनव्वर हसन के सगे भाईयों कंवर हसन, अनवर हसन का अपनी भाभी तब्बसुम और भतीजे नाईद हसन से सियासी टकराव चल रहा है। कई चुनावों में वे एक दूसरे के विरोध में बोलते हैं और कैराना के इस महत्वपूर्ण चुनाव में भी पारिवारिक कलह सामने उभर कर आई है और कंवर हसन ने लोकदल के टिकट पर तब्बसुम को चुनौती देने का काम किया है। जबकि संयुक्त विपक्ष की प्रत्याशी तब्बसुम का मुख्य मुकाबला भाजपा प्रत्याशी और हुकुम सिंह की बेटी मृगांका सिंह से है।

Share it
Share it
Share it
Top