सहारनपुर जनपद के जेवी जैन काॅलेज में पहुंचे जिलाधिकारी आलोक पांडे ने शिक्षक के रूप छात्रों से किए साधारण सवाल

सहारनपुर जनपद के जेवी जैन काॅलेज में पहुंचे जिलाधिकारी आलोक पांडे ने शिक्षक के रूप छात्रों से किए साधारण सवाल


छात्र नहीं दे पाए जिलाधिकारी के सवालों का जवाब

जिलाधिकारी आलोक पांडे ने छात्रों को अच्छी शिक्षा के लिए और प्रथम स्थान प्राप्त करने के लिए प्रेरित किया

सहारनपुर (गौरव सिंघल)। सहारनपुर के प्रमुख पोस्ट ग्रेजूएट कालेज जेवी जैन कालेज में आज भारत के दूसरे राष्ट्रपति सर्वपल्ली डा. राधा कृष्णनन के शिक्षक दिवस के रूप में मनाए जाने वाले शिक्षक दिवस समारोह में जिलाधिकारी आलोक कुमार पांडे छात्रों के बीच एक शिक्षक के रूप में थे। उन्हाेंने छात्रों को अच्छी शिक्षा के लिए और प्रथम स्थान प्राप्त करने के लिए प्रेरित किया। जिलाधिकारी आलोक पांडे ने कहा कि कुछ साल पहले तक वे भी छात्र थे और उन्होंने आठवीं तक की शिक्षा हिंदी के माध्यम से की थी। उन्होंने छात्रों को सफलता के सूत्र बताते हुए कहा कि वे एकाग्रचित होकर और लक्ष्य को सामने रखकर पूरे ध्यान और मनोबल के साथ अध्ययन करें और सामान्य भारतीय व्यंजन खाएं, गुरूओं का आदर करें तो उन्हें अपने लक्ष्य को प्राप्त करने में पूरी सफलता प्राप्त होगी। उन्होंने कहा कि दुनिया में पूछ प्रथम स्थान पर रहने वालों की ही होती है इसलिए सभी छात्रों की कोशिश प्रथम आने और जीवन में ऊंची उपलब्धियां हासिल करने की होनी चाहिए।

जिलाधिकारी आलोक पांडे ने कहा कि डा. राधाकृष्णनन शिक्षा के क्षेत्र में अनुकरणीय हस्ति रहे हैं। वह प्रकांड विद्वान और दर्शन शास्त्र के अग्रणी व्यक्ति थे। उन्होंने भारतीय संस्कृति और दर्शन को पूरे विश्व में नई उचाइंया प्रदान कीं। जिलाधिकारी ने छात्रों से यह भी कहा कि एकलव्य श्रेष्ठ शिष्य का उदाहरण है। सभाकक्ष में कालेज के प्राचार्य डा. पीके वाष्र्णेय और विभिन्न विषयों की प्रोफेसर शशि नोटियाल, डा. वंदना रोहिल्ला, डा वंदना और पूजा यादव आदि उस वक्त हक्के-बक्के रह गए जब जिलाधिकारी आलोक पांडे ने उनको दी गई कालेज की वार्षिक स्मारिका भेंट किए जाने के बाद छात्रों से पूछा कि उनके कालेज का मोटो और लोगो क्या हैं। कोई भी छात्र इसका उत्तर नहीं दे पाया। जिलाधिकारी आलोक पांडे ने छात्रों से और कई अन्य साधारण से सवाल किए किंतु छात्र उनका उत्तर देने में असफल रहे। जिलाधिकारी आलोक पांडे को आश्चर्य हुआ कि पोस्ट ग्रेजूएट कालेज के छात्रों को अपने कालेज का मोटो अहिंसा परमोधर्म और लोगो सूर्य जैसी सामान्य बातें भी मालूम नहीं थीं। जिलाधिकारी आलोक पांडे ने शिक्षकों और प्राचार्यों को भरोसा दिया कि वह जल्द ही उनके बीच में फिर से आएंगे और छात्रों को कामयाबी के सूत्र से अवगत कराएंगे और प्रेरित करेंगे।

Share it
Top