फर्जी मुठभेड़ कर अपनी पीठ थपथपा रही है यूपी पुलिस

फर्जी मुठभेड़ कर अपनी पीठ थपथपा रही है यूपी पुलिस

लखनऊ । लोक गठबंधन पार्टी (लाेगपा) ने अाज आरोप लगाया कि कानून-व्यवस्था को नियंत्रित करने के नाम पर उत्तर प्रदेश पुलिस फर्जी मुठभेड़ कर अपनी पीठ थपथपा रही है।
पार्टी ने झांसी के एक आडियो क्लिप जारी की जिसमें एक थाना प्रभारी गैंगस्टर के अारोपी को पुलिस मुठभेड से बचने के लिये उससे सौदेबाजी की बात कर रहा है। उन्होंने कहा कि यह क्लिप इस बात का सबूत है कि सरकार को खुश करने के लिये पुलिस किस तरह फर्जी मुठभेड़ कर रही है।
पार्टी प्रवक्ता ने आज यहां कहा कि राज्य सरकार ने पुलिस को अपराधियों को मार गिराने की खुली छूट दे रखी है जिसका बेजा इस्तेमाल पुलिस अधिकारी कर रहे हैं। अपनी निजी दुश्मनी या खुन्नस निकालने के लिये बेकसूरों को भी पुलिस मुठभेड में मारा जा रहा है।
उन्होंने कहा कि झांसी में आरोपी थानाध्यक्ष कई आपराधिक गतिविधियों में संलिप्त है जो साफ इशारा करता है कि पुलिस को राजनीतिक संरक्षण प्राप्त है । इससे पहले फरवरी में नाेएडा कथित मुठभेड में एक बेकसूर को मार डाला था।
प्रवक्ता ने कहा कि पिछले दस माह के दौरान सूबे में 1142 मुठभेड हुयी जिसमें पुलिस ने अपराधियों के साथ-साथ कई बेकसूरों को भी मार दिया। उन्होंने कहा कि उनका दल अपराधियों के साथ किसी भी तरह के रहम की वकालत नहीं करता लेकिन पुलिस का व्यवहार संदिग्ध है जो आमजन को परेशान करता है।

Share it
Top