सीबीआई से जांच राज्य सरकार का विषय नहीं है: योगी

सीबीआई से जांच राज्य सरकार का विषय नहीं है: योगी

लखनऊ। उत्तर प्रदेश विधान परिषद में मुठभेड़ों की जांच केन्द्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) से कराने के सभापति के निर्देश से असहज दिख रहे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज कहा कि इस केन्द्रीय एजेंसी से जांच कराने का विषय राज्य सरकार का नहीं है।
योगी ने सदन में कहा कि नोएडा में गत तीन फरवरी की रात जितेन्द्र यादव को प्रशिक्षु पुलिस उपनिरीक्षक द्वारा गोली मारे जाने को मुठभेड़ कहना उचित नहीं है। इस घटना के बाद वहां के गौतमबुद्धनगर के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने भी कहा था कि यह मुठभेड़ नहीं है। घटना के लिए जिम्मेदार उपनिरीक्षक के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर उसे जेल भेजा जा चुका है। विपक्ष के पास कोई मुद्दा नहीं है और वह इसी तरह के मुद्दे उठाकर सदन में शोर-शराबा कर सरकार पर दबाव बनाना चाहता है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि उच्च सदन में जनहित के मुद्दे उठाये जाते हैं लेकिन कुछ सदस्य जबरन बाहरी लोेगों के दबाव में इस तरह के विषय उठा देते हैं। उन्होंने कहा कि अगर सदन में दिल्ली और बिहार के मुद्दे उठायें तो हंसी का पात्र बनेंगे। संवैधानिक संस्थाएं नियमों से चलती हैं । सदन की मर्यादा और परम्पराओं को ध्यान में रखा जाता है। उच्च सदन की गरिमा और मर्यादा बनाये रखना सभी की जिम्मेदारी है।
उन्होंने कहा कि राज्य में 1200 से अधिक मुठभेड़ हुई हैं अौर 40 से अधिक बदमाश मारे गये हैं। आगे भी यह सिलसिला थमने वाला नहीं है। उन्होंने कहा कि निर्दोष लोगों को मारने वाले तत्वों को कुचला जायेगा। एेसे अपराधियों और माफियाओं पर सहानुभूति व्यक्त करना लोकतंत्र के लिए खतरनाक है।

Share it
Share it
Share it
Top