सपा,कांग्रेस ने कहा योगी सरकार में बढ़े अपराध, सदन से किया बहिर्गमन

सपा,कांग्रेस ने कहा योगी सरकार में बढ़े अपराध, सदन से किया बहिर्गमन

लखनऊ। उत्तर प्रदेश राज्य विधानसभा में आज समाजवादी पार्टी(सपा) और कांग्रेस ने सूबे में कानून व्यवस्था खराब होने का आरोप लगाते हुए सदन का बहिर्गमन किया।
प्रश्नप्रहर के दौरान विपक्षी सदस्यों ने राज्य में कानून-व्यवस्था खराब होने का आरोप लगाया जबकि संसदीय कार्यमंत्री सुरेश खन्ना ने कहा कि तीन महीने में कानून व्यवस्था के हालात में सुधार हुआ है।
अपराधों का विवरण देते हुए उन्होंने कहा कि 15 मार्च से नौ मई के बीच 729 हत्याएं, 60 डकैती, 799 लूट, 2682 अपहरण और 803 बलात्कार के मामले दर्ज हुए।
खन्ना ने कहा कि तीन अपराधियों के खिलाफ राष्ट्रीय सुरक्षा कानून(रासुका), 126 के खिलाफ गैंगेस्टर और 131 के खिलाफ गुण्डा एक्ट के तहत कार्रवाई की गई।
विपक्ष सरकार के जवाब से संतुष्ट नहीं था। नेता विपक्ष राम गोविंद चौधरी ने कहा कि सरकार अपराधों को छिपा रही है। उन्होंने गलत आंकडे देने का भी आरोप लगाया।
सरकार के जवाब से असंतुष्ट चौधरी ने अपनी पार्टी के सदस्यों के साथ सदन का बहिर्गमन किया। कांग्रेस नेता अजय कुमार लल्लू ने भी कानून व्यवस्था के मामले पर सरकार को घेरा और बाद में सदन का बहिर्गमन कर दिया। लल्लू का कहना था कि भाजपा सरकार में अपराध बढे हैं।
बहुजन समाज पार्टी(बसपा) विधानमंडल दल के नेता लालजी वर्मा ने कहा कि सरकार ने अपराधों के आंकडों को कम बताया है। उनका कहना था कि 16 मार्च से छह जून के बीच 81 डकैती और 1434 हत्याएं हुई हैं।
सपा के पारसनाथ यादव ने कहा कि गिरफ्तार होने वाले लोगों में से अधिकतर की जमानत हो जा रही है। इससे लगता है कि सही अपराधी पकडे नहीं जा रहे हैं। सपा के संजय गर्ग के एक अन्य सवाल के जवाब में संसदीय कार्यमंत्री सुरेश खन्ना ने कहा कि साइबर क्राइम के 1950 मामले दर्ज हुए हैं।
एक अक्टूबर 2016 से दो मई 2017 तक 206 मामलों में आरोपपत्र दाखिल हुए हैं जबकि 217 मामलों में अंतिम रिपोर्ट लगे हैं। लखनऊ और नोएडा में विशेष साइबर सेल गठित किये गए हैं।
बसपा के मोहम्मद असलम राइनी के सवाल के जवाब में खन्ना ने कहा कि पुलिस अब पासपोर्ट के मामलों में 21 दिन के अन्दर रिपोर्ट देने के लिए बाध्य है।
गत जून में 71000 पासपोर्ट जारी किये गये। इन मामलों में 21 दिन में पुलिस ने रिपोर्ट दाखिल कर दी थी। 313 मामलों में देरी हुई क्योंकि उनमें कुछ कमियां रही होंगी।

Share it
Share it
Share it
Top