उत्तर प्रदेश-एटीएस ने माकड्रिल कर परखी विधानभवन की सुरक्षा

उत्तर प्रदेश-एटीएस ने माकड्रिल कर परखी विधानभवन की सुरक्षा

लखनऊ । उत्तर प्रदेश विधानसभा भवन में विस्फोटक पदार्थ मिलने के 72 घंटे बीत जाने के बाद भी आतंकवादी निरोधक दस्ता (एटीएस) तथा अन्य सुरक्षा एजेंसियां किसी नतीजे पर नहीं पहुंच पायी है कि आखिर चाक चौबंद सुरक्षा के बावजूद विस्फोटक यहां तक कैसे पहुंचा।
देश के बडे राज्य के विधानभवन की सुरक्षा के मद्देनजर आज एटीएस तथा अन्य सुरक्षा एजेसियों ने माकड्रिल (सांकेतिक अभ्यास) किया। राष्ट्रपति पद उम्मीदवार के चयन के लिये कल यहां वोट डाले जायेगे। जांच कर रही एजेंसिया अभी किसी नतीजे पर नहीं पहुचीं है । वहीं, दूसरी ओर उत्तर प्रदेश सरकार ने केन्द्र सरकार को पत्र लिखकर इसकी जांच एनआईए से कराने के लिये कहा था।
राज्य सरकार ने पत्र के साथ एफआईआर की कापी तथा अन्य जानकारी एनआईए को भेजी है । राष्ट्रपति पद के लिये चुनाव के वोट कल 1000 बजे से 1700 के बीच डाले जायेगे । विधानभवन की सुरक्षा व्यवस्था को दुरस्त कर रखने के लिये सुरक्षा एजेसियों ने आज माकड्रिल किया ताकि इसमें किसी प्रकार की कोई कोर कसर न रहे।
एटीएस के पुलिस महानिरीक्षक असीम अरूण ने आज यहां बताया कि विधानभवन में विस्फोटक कैसे पहुंचा और कौन इसे वहां ले गया इसकी जांच चल रही है । इस मामले में पूछताछ जारी है । जांच एजेसियां अभी तक किसी नतीजे पर नही पहुची है कि कौन इसे वहां ले गया। उन्होने कहा कि सुरक्षा के मद्देजर आज माकड्रिल किया गया।
सुरक्षा के खामियों के बारे में एक बैठक की गयी जिससे इसमें आयी कमियों को दूर किया जा सके।अरूण ने बताया कि सभी एजेसियों ने अपना अपना एक प्रतिनिधि माकड्रिल में भेजा था जो अपनी रिपोर्ट सरकार को देगा। इसके बाद सरकार सुरक्षा में आयी कमियों काे दूर करेगी।

Share it
Share it
Share it
Top