विधानसभा की सुरक्षा-व्यवस्था अब एडीजी के हवाले!

विधानसभा की सुरक्षा-व्यवस्था अब एडीजी के हवाले!

लखनऊ। विधानसभा की सुरक्षा को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ बेहद गंभीर हैं। वह सीएम भवन की सुरक्षा-व्यवस्था की जिम्मेदारी एडीजी जोन आगरा को दे सकते हैं। एडीजी को पांच साल तक संसद भवन की सुरक्षा सभांलने का अनुभव है।
बतादें कि गुरुवार को विधानसभा भवन में विधायक मनोज पाण्डेय की कुर्सी के नीचे मिले पीईटीएन विस्फोटक पदार्थ के मामले की जांच एनआईए टीम को सौंपी गई है। इस संबंध में एनआईए ने एटीएस टीम के साथ सदन का निरीक्षण कर कई साक्ष्य जुटाये हैं।
सीसीटीवी से लेकर सुरक्षा में उपयोग किए जाने वाले सभी उपकरणों को भी एनआईए ने कब्जे में ले लिया है। विधानसभा की कार्यवाही की सीडी एनआईए को सौंपी गई है। तहकीकात में यह भी पता चला है कि भवन में लगे छह कैमरों में एक ही चालू है। भवन में काम करने वाले अधिकारियों व कर्मचारियों से भी जानकारी एनआईए ने मांगी है।
सूत्रों की मानें तो विधानसभा की सुरक्षा को लेकर सीएम ने एडीजी जोन आगरा के साथ लखनऊ में बैठक की। विधानसभा की सुरक्षा की जिम्मेदारी मुख्यमंत्री उन्हें दे सकते हैं। एडीजी अजय आनंद ने भारत सरकार में ज्वाइंट सेक्रेटरी रहते हुए पांच साल तक संसद भवन की सुरक्षा व्यवस्था संभाली थी। उनके अनुभव को देखते हुए ही विधानसभा की सुरक्षा को लेकर मुख्यमंत्री एडीजी अजय आनंद के साथ सुरक्षा प्लान तैयार कर रहे हैं।

Share it
Share it
Share it
Top