जौनपुर में शासनादेश के बाद भी वापस नहीं हुआ तीन विधायकों पर दर्ज मुकदमा

जौनपुर में शासनादेश के बाद भी वापस नहीं हुआ तीन विधायकों पर दर्ज मुकदमा

जौनपुर। उत्तर प्रदेश के जौनपुर कलेक्ट्रेट में वर्ष 2009 में समाजवादी पार्टी (सपा) के तीन विधायकों के खिलाफ धरना प्रदर्शन के दौरान पुलिस पर पथराव के मामले में दर्ज मुकदमा शासनादेश के बाद अभी भी मुकदमा वापस नहीं हुआ है।
आधिकारिक सूत्रों के अनुसार वर्ष 2009 में जिला कचेहरी में सपा कार्यकर्ताओं के धरना-प्रदर्शन के दौरान पुलिस पर पथराव एवं धमकी के सिलसिले में सपा विधायक एवं पूर्व मंत्री पारसनाथ यादव, शैलेंद्र उर्फ ललई यादव, जगदीश सोनकर समेत 31 आरोपी नामजद और 250-300 अज्ञात कार्यकर्ताओं पर प्राथमिकी दर्ज हुई थी।
तत्कालीन सपा सरकार ने वर्ष 2014 में पारसनाथ यादव, शैलेन्द्र उर्फ ललई यादव और जगदीश सोनकर के खिलाफ दर्ज मुकदमें को वापस लेने के लिए शासनादेश जारी किया था लेकिन मुकदमा वापस नहीं हुआ।
इस मामले में अगली सुनवाई के लिए 21 जुलाई तिथि नियत की गई है। गौरतलब है कि जिले के तत्कालीन थानाध्यक्ष लाइन बाजार रामजतन वरूण ने लाइन बाजार में प्राथमिकी दर्ज कराई थी कि 11 सितंबर 2009 को समाजवादी पार्टी का धरना प्रदर्शन कलेक्ट्रेट में चल रहा था, जिसमें पारसनाथ यादव, जगदीश सोनकर, शैलेंद्र यादव ललई, ज्वाला प्रसाद, लाल बहादुर, लल्लन यादव श्रद्धा यादव आदि मौजूद थे।
करीब पौने दो बजे दिन में अचानक पारसनाथ यादव के नेतृत्व में सपा कार्यकर्ता आक्रोशित हो उठे और शासन के खिलाफ नारेबाजी करते हुए बांस-बल्ली तोड़ने लगे, गालियां तथा धमकी देने लगे, सरकारी गाड़ी क्षतिग्रस्त कर दिए, पुलिस पर पथराव किए, जिससे कई पुलिसवाले घायल हो गए।
पुलिस ने बल प्रयोग कर कार्यकर्ताओं को तितर-बितर किया। कार्यकर्ता सरकारी संपत्ति को क्षति एवं सरकारी कार्य में बाधा पहुंचाई। न्यायालय में चार्जशीट भी भेज दी गई थी।
30 अक्टूबर 2014 को जे पी सिंह विशेष सचिव ने धारा 321 सीआरपीसी के तहत मुकदमा वापस लेने का शासनादेश जिलाधिकारी को भेजा था।
जिलाधिकारी के निर्देश पर तत्कालीन अभियोजन अधिकारी लक्ष्मीकांत मिश्र ने चार दिसंबर 2014 को सीजेएम अदालत में शासनादेश का हवाला देते हुए मुकदमा वापस लेने संबंधी प्रार्थना पत्र दाखिल किया था और तभी से मामला उसी प्रार्थना पत्र की सुनवाई में चल रहा है।
अब तक 21 तारीख बीत चुकी हैं। पत्रावली फास्ट ट्रैक कोर्ट सीनियर डिवीजन में सुनवाई में चल रही है।
उल्लेखनीय है कि पारस नाथ यादव, शैलेन्द्र यादव उर्फ ललई और जगदीश सोनकर इस समय भी समाजवादी पार्टी के विधायक हैं और लल्लन यादव, ज्वाला प्रसाद यादव, श्रद्धा यादव तथा लाल बहादुर यादव पूर्व विधायक हैं।


Share it
Top