सहारनपुर : दो श्रमिको की मौत के लिए जिम्मेदार पटाखा फैक्ट्री मालिक और प्रबंधक के खिलाफ रिर्पोट दर्ज

सहारनपुर : दो श्रमिको की मौत के लिए जिम्मेदार पटाखा फैक्ट्री मालिक और प्रबंधक के खिलाफ रिर्पोट दर्ज


सहारनपुर (गौरव सिंघल)। सहारनपुर देहात कोतवाली पुलिस ने पटाखा फैक्ट्री मदान फायर वक्र्स के मालिक मंजीत सिंह मदान उर्फ लवली और श्रमिक प्रबंधक नौशाद के खिलाफ सोमवार को लापरवाही बरतने और फैक्ट्री में सुरक्षा व्यवस्थो में खामी होने के आरोप में सोमवार को मुकदमा दर्ज कर तफ्तीश शुरू कर दी। एसपी सिटी विनीत भटनागर ने आज शाम पत्रकारों को यह जानकारी दी।

एसपी भटनागर ने बताया कि गांव पुंवारका स्थित पटाखा फैक्ट्री में धमाके के बाद लगी आग का कारण ट्रांसफार्मर से निकली बिजली की चिंगारी था। लेकिन पूरी जानकारी जांच के बाद ही सामने आएगी। इस घटना की कोई जांच प्रशासन ने नहीं बैठाई है और न ही अभी तक राज्य सरकार और जिला प्रशासन की ओर से हादसे में जान ंगवाने वाले दो श्रमिकों 17 वर्षीय युवक अतुत कश्यप पुत्र विश्वास कश्यप और 25 वर्षीय संदीप पुत्र नाथीराम के परिजनों को मुआवजा दिए जाने का ऐलान हुआ है।

सहारनपुर देहात कोतवाली प्रभारी मुनेंद्र सिंह ने बताया कि मृतक श्रमिक अतुल कश्यप के भाई अंकित कश्यप निवासी गांव लडवा की ओर से फैक्ट्री मालिक मंजीत सिंह मदान उर्फ लवली और श्रमिक प्रबंधक नौशाद के खिलाफ आईपीसी की धारा 336, 337 और 304 ए में मुकदमा दर्ज किया गया है। पुलिस ने अभी आरोपियों की गिरफ्तारी नही की है और तफ्तीश शुरू कर दी है। धमाके और आग में दो अन्य श्रमिक जो बुरी तरह से झुलस गए थे का अस्पताल में इलाज चल राह है उनमें से एक ही हालत नाजुक बनी हुई है। घटना के बाद एसएसपी दिनेश कुमार प्रभु और दूसरे पुलिस अफसरो और फायर बिग्रेड के अधिकारियों ने मौके पर पहुंचकर राहत कार्यों को संपन्न कराया। रविवार होने के कारण फैक्ट्री मे आधा दर्जन श्रमिक ही काम पर आए थे। जबकि इस फैक्ट्री में तीन दर्जन श्रमिक काम करते है। पटाखों में आग लगने के बाद हुए धमाके में फैक्ट्री की छत और दीवार धराशायी हो गई थी। तीन श्रमिकों ने किसी तरह भागकर अपनी जान बचा ली थी। लेकिन तीन आग में घिर गए थे। मृतकों के परिजनों ने कमिश्नर संजय कुमार और जिलाधिकारी आलोक पांडे से मुआवजा दिए जाने की मांग की है।

Share it
Top