गाजियाबाद: एसएसपी का फरमान, होटल व रेस्टोरेंट में मुफ्त खाना खाने वालों की अब खैर नहीं

गाजियाबाद:  एसएसपी का फरमान, होटल व रेस्टोरेंट में मुफ्त खाना खाने वालों की अब खैर नहीं


गाजियाबाद। घूसखोरी और मुफ्त का खाना खाने वाले पुलिस कर्मचारियों के कारण इस महकमे की कितनी बदनामी हो रही है कि इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सुधीर कुमार सिंह को अपना बयान गुरुवार को सोशल मीडिया पर वायरल करना पड़ा। जिसमें उन्होंने साफ तौर पर कहा है कि यदि कोई पुलिसकर्मी किसी भी होटल रेस्टोरेंट या मिठाई की दुकान पर खाना खाकर या सामान लेकर कर भुगतान नहीं करता है तो उसकी शिकायत सीधे नगर पुलिस अधीक्षक को करें। इसके लिए उन्होंने नगर पुलिस अधीक्षक का मोबाइल नंबर (9643322901) भी जारी किया गया है।

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने यह भी कहा है कि यदि किसी व्यापारी का किसी पुलिस वाले पर बिल का बकाया है तो एसपी सिटी के नंबर पर इसकी शिकायत करें बिल का भुगतान कराया जायेगा।

हाल ही में अनिल गुप्ता नामक एक समाजसेवी व व्यापारी ने एक पत्र सोशल मीडिया पर वायरल किया था कि उसके यहां कुछ पुलिसकर्मी मुफ्त में खाना खाकर भुगतान नहीं करते हैं। भुगतान मांगने पर उन्हें पुलिसिया रौब दिखाया जाता है और किसी भी फर्जी मामले में फंसाने तक की धमकी देते हैं। सुबह जैसे ही यह पत्र वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक के संज्ञान में आया तो उन्होंने अपना एक वीडियो व एक प्रेस विज्ञप्ति सोशल मीडिया पर जारी की।

जिसमें इस पत्र का संज्ञान लेते हुए लोगों से अपील की गई है यदि कोई गाजियाबाद पुलिस का कर्मचारी प्रकार के कृत्य में लिप्त पाया है उसकी शिकायत सीधी एसपी सिटी के मोबाइल फोन पर करें ताकि उसका भुगतान कराया जा सके और अनुशासनात्मक कार्रवाई की जा सके। पिछले काफी समय से गाजियाबाद पुलिस में घूसखोरी मुफ्त में खाना खाने मुफ्त में टैक्सी लेकर सैर सपाटा करने खबरें लगातार सोशल मीडिया पर वायरल हो रही हैं। इंदिरापुरम थाने के पूर्व प्रभारी दीपक शर्मा व लिंक रोड की थाना प्रभारी लक्ष्मी चौहान पर रिश्वतखोरी का आरोप लगा था। जिसके चलते गाजियाबाद पुलिस की छवि खराब हो रही है।


Share it
Top