मोहसिन रजा के नेतृत्‍व में CM योगी से मिले मुस्लिम धर्मगुरु..मुजफ्फरनगर की कानून व्यवस्था पर भी प्रकाश डाला

मोहसिन रजा के नेतृत्‍व में CM योगी से मिले मुस्लिम धर्मगुरु..मुजफ्फरनगर की कानून व्यवस्था पर भी प्रकाश डाला

लखनऊ =। अयोध्या केस का फैसला आने के उपरांत पूरे प्रदेश में शांति व्यवस्था कायम करने और सभी त्योहार और जुलूस शांतिपूर्ण संपन्न कराने के लिए प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का आभार जताने और अयोध्या में मस्जिद के लिए आगामी रूपरेखा बनाने की बाबत आज शिया और सुन्नी धर्म गुरुओं का एक प्रतिनिधिमंडल मानवता कल्याण बोर्ड के अध्यक्ष मौलाना सलमान हुसैनी नदवी और शिया धर्मगुरु मौलाना हमीदुल हसन के नेतृत्व में इस प्रतिनिधिमंडल ने सौहार्दपूर्ण वातावरण में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के 5 कालिदास आवास पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से विशेष मुलाकात की और विस्तृत वार्ता की गई। दोनों समुदाय के धर्मगुरु की और प्रतिनिधियों की मुलाकात कराने के सूत्रधार राज्य मंत्री मोहसिन रजा बने जिनकी विशेष पहल पर यह अहम बैठक मुख्यमंत्री आवास पर हुई ,जिसमें बार और बेंच के चीफ एडिटर आरिफ शीश महली एडवोकेट भी पश्चिम उत्तर प्रदेश विशेषकर जनपद मुजफ्फरनगर और लखनऊ के हालात और उन पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की विशेष राय जानने के लिए मौजूद रहे। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस प्रतिनिधिमंडल का हृदय से स्वागत किया और आशा जताई की एकता के साथ कार्य करने में बहुत स्कोप है ।प्रदेश व देश को बहुत आगे ले जाया जा सकता है। उन्होंने इस मौके पर अपनी कार्यशैली से दोनों समुदाय के प्रतिनिधियों को अवगत कराते हुए कहा कि वह एक योगी हैं और अब प्रदेश की समस्त नागरिकों की सुरक्षा का जिम्मा उनके ऊपर है।

उन्होंने कहा कि उन्होंने किसी वर्ग के साथ कोई भेदभाव नहीं किया है और आप देखें कि शासन की समस्त योजनाओं का लाभ मुस्लिम समाज को उनकी जनसंख्या के अनुपात से कहीं अधिक मिला है ।उन्होंने आवास योजना ,आयुष्मान कार्ड और बहुत सी अल्पसंख्यक समाज के लिए लागू योजनाओं की जानकारी देते हुए यह भी अफसोस जताया कि अल्पसंख्यकों के लिए चलाई जा रही दूसरी योजनाओं का लाभ उन्हें पूरी तरह मिले इसके लिए आप लोग अपनी मस्जिद में या किसी अन्य प्रकार से से प्रचार अवश्य कराएं। उन्होंने दोनों समुदाय के धर्मगुरुओं को यह भी बताया कि जब वह होली और दीपावली पर वीडियो कॉन्फ्रेसिंग करके प्रशासन को निर्देशित करते हैं तो वह ईद और बारावफात पर भी कॉन्फ्रेंसिंग में साफ हिदायत देते हैं कि यदि कहीं भी कोई कोताही हुई या शिकायत आई तो संबंधित क्षेत्र के अधिकारियों की जवाबदेही होगी।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ इस प्रतिनिधिमंडल से बेहद खुशनुमा माहौल में मिले और एक एक पहलू पर अपने दिल की और शासन स्तर की बातें कहीं। उन्होंने यह भी कहा कि यदि कहीं भी किसी प्रकार से किसी के साथ कोई भेदभाव हो रहा है या कार्य नहीं किया जा रहा है या यह सूचना आती है कि वह मुसलमान है उनका कार्य नहीं किया जा रहा है तो वह मेरे संज्ञान में लाएं संबंधित अधिकारी के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। इससे पूर्व मानवता कल्याण बोर्ड के अध्यक्ष मौलाना सलमान हुसैनी नदवी ने उन्हें अयोध्या फैसला आने के उपरांत पूरे सूबे में शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए शासन प्रशासन का आभार जताया तो उन्होंने इस मौके पर अयोध्या में दी जाने वाली जमीन पर भव्य मस्जिद के साथ एजुकेशनल इंस्टीट्यूशन बनाने की बात कही और साफ कहा कि वह चाहते हैं कि मुस्लिम शैक्षिक संस्थाओं का भी पूर्ण विकास कराया जाए। उन्होंने बताया कि हम अपने मदरसों में हिंदी अंग्रेजी के आधुनिक शिक्षा भी दे रहे हैं। इस मौके पर शिया धर्मगुरु ने बताया कि उनके विशेष पहल और मेहनत से वर्षों से चला आ रहा लखनऊ का 19 वर्ष पुराना विवाद खत्म हुआ और अब उत्तर प्रदेश योगी सरकार बनने के उपरांत जो शांति व्यवस्था कायम है उसके वह बेहद शुक्रगुजार हैं। हमें जिम्मेदारी दी जाए जहां भी जरूरत पड़े सूबे की बेहतरी के लिए कार्य किये जाएगे।

इस मौके पर भागलपुर की खानकाह अहमद अली के सज्जादानशीन शाह फखरेआलम हसन मैं मुलाकात करते हुए कहा कि इस मीटिंग से आपने हमारे दिल से गहरे ताल्लुक बना लिए हैं देश में राष्ट्रीय एकता आपसी सौहार्द के लिए जो हो सकेगा आखिरी दम तक करेंगे , अब्दुल अली मेडिकल कॉलेज के डायरेक्टर युसूफ हुसैनी उनके द्वारा मुस्लिम शिक्षण संस्थाओं में आधुनिक शिक्षा के लिए किए जा रहे कार्यों की जानकारी दी, डायरेक्टर अबुल हसन हायर एजुकेशन सेंटर मौलाना यूनुस हुसैनी नदवी, बार और बेंच के चीफ एडिटर आरिफ शीश महली एडवोकेट आदि ने अपना अपना परिचय मुख्यमंत्री को देते हुए प्रदेश में शांति सुशासन और कानून व्यवस्था पर लाभकारी योजनाओं का लाभ बिना भेदभाव प्रत्येक पात्र व्यक्तियों को देने की नीति को बरकरार रखने का आह्वान किया और फैसले के बाद और त्योहारों को शांतिपूर्ण संपन्न कराने में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का आभार जताया। बार और बेंच के चीफ एडिटर आरिफ शीशमहल एडवोकेट ने पश्चिम उत्तर प्रदेश विशेष पर जनपद मुजफ्फरनगर की कानून व्यवस्था और आपसी सौहार्द के बारे में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को बताते हुए जिले के इतिहास और संस्कृति पर भी प्रकाश डाला। त्योहारों के समय वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अभिषेक यादव और जिलाधिकारी सेल्वा कुमारी जे द्वारा प्रत्येक थाना क्षेत्र में की गई शांति बैठकों के बारे में भी अवगत कराया। इस मौके पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सभी का शाल और पुष्प देकर सम्मान स्वागत किया। मुख्यमंत्री से लगभग 1 घंटे से अधिक चली इस विस्तृत बैठक में दोनों धर्म के प्रतिनिधियों में आस्था और विश्वास जगा है।


Share it
Top