खेत में बाड़ के करंट प्रवाहित तार की चपेट में आकर दो किसानों की मौत

खेत में बाड़ के करंट प्रवाहित तार की चपेट में आकर दो किसानों की मौत


वाराणसी। चोलापुर थाना क्षेत्र के बसांव गांव में शुक्रवार सुबह खेत के करंट प्रवाहित कंटीले बाड़ की चपेट में आकर दो लोगों की मौत हो गई। घटना से क्षुब्ध मृतकों के परिजनों के साथ ग्रामीणों ने जमकर हंगामा के बाद धरना दिया। सूचना पर मौके पर पहुंंची पुलिस ने ग्रामीणों को शान्त कराने के बाद शवों को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

बसांव गांव निवासी किसान मन्ना (51) आज सुबह बारिश के बीच अपने खेतों की ओर पानी देखने के लिए घर से निकला था। खेत में पानी कम देख वह अपने ट्यूबवेल में पाइप लगाकर पानी भरने लगा। पानी ठीक से खेत में न जाता देख वह खेत में उतरा। इसी दौरान बाड़ के लिए लगाया करंट प्रवाहित कंटीला तार भी टूट कर खेत में गिर गया, जिससे खेत में करंट उतर आया और उसकी चपेट में मन्ना आ गया।

मन्ना खेत में गिरकर तड़पने लगा यह देख उधर से गुजर रहे गांव के पूर्व प्रधान नखड़ू उसे बचाने के लिए दौड़े। खेत में पांव रखते ही वह भी करंट की चपेट में आ गये। उनके चिल्लाने पर ग्रामीण वहां पहुंचे तो माजरा समझते ही उन्होंने तत्काल बिजली विभाग में फोन करने के साथ पुलिस को सूचना दी। लाइन जब तक कटती नखड़ू और मन्ना दोनों की मौत हो गई। लाइन कटने के बाद मृतको के परिजन उन्हें अस्पताल लेकर भागे, जहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

इाके बाद दोनों के शवों को गांव में लाया गया। घटना से क्षुब्ध ग्रामीण मृतकों के परिजनों को मुआवजा देने की मांग कर धरने पर बैठ गये। सूचना पाकर पहुंची पुलिस ने जांच व मुआवजा दिलाने का आश्वासन देकर लोगों को शांत कराया।

ग्रामीणों ने बताया कि मन्ना ने अपने खेतों और टयूबवेल को मवेशियों और नील गाय से बचाने के लिए कंटीले तारों की बाड़ लगायी थी। रात में वह उसमें करंट दौड़ा देता था। आज सुबह मन्ना खेत में गया तो उसी दौरान बाड़ का तार खेत के पानी में टूट कर गिर गया, जिससे करंट खेत में उतर गया।


Share it
Top