पांच साल का बेटा प्यार में बना रोड़ा, मां ने हत्या के लिए प्रेमी को सौंपा

पांच साल का बेटा प्यार में बना रोड़ा, मां ने हत्या के लिए प्रेमी को सौंपा

वाराणसी। आदमपुर थाना क्षेत्र के बसन्ता कॉलेज मार्ग पर पुलिस की संवेदनशीलता से पांच साल के मासूम बच्चे की जान बच गई। पुलिस ने बच्चे की हत्या का प्रयास करने वाले आरोपित को गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में आरोपित ने बताया कि बच्चे को मारने के लिए उसकी सगी मां ने ही उसे सौंपा था। बच्चा अपनी मां के नाजायज प्रेम की राह में रोड़ा बन गया था। पुलिस ने अपने बच्चे की जान की दुश्मन बनी मां को भी गिरफ्तार कर लिया।

सोशल मीडिया सेल प्रभारी ने बृहस्पतिवार को बताया कि लाटभैरव पुलिस चौकी इंचार्ज देवी शरण यादव अपने हमराहियों के साथ बुधवार देर रात राजघाट बसंता कालेज मार्ग पर संदिग्ध वाहनों की चेकिंग कर रहे थे। इसी दौरान सड़क किनारे पास स्थित झाड़ी से एक बच्चे के चीखने की आवाज आई। झाड़ी के नजदीक जाने पर चौकी प्रभारी ने देखा कि एक युवक बच्चे का मुंह और गला दबा रहा है। यह देख दौड़कर दरोगा और पुलिस कर्मियों ने उसे पकड़ लिया और बच्चे को उसके चंगुल से छुड़ाकर मंडलीय अस्पताल में इलाज के लिए भेजवाया। पूछताछ में आरोपित ने अपना नाम तेलियाना आदमपुर निवासी अनन्य उर्फ सोनू अग्रहरि बताया।

सोनू ने बताया कि बच्चे की मां के साथ उसका अवैध सम्बन्ध है। वह चंदौली जिले के बलुआ क्षेत्र की निवासी है। अपने पति से अनबन होने पर अलग होकर वाराणसी के कोनिया मोहल्ले में किराये के मकान में बच्चे के साथ रहती है। दोनों के संबंध में बच्चा बाधक बन रहा था। सोनू के मुताबिक बच्चे को मार कर दोनों की शादी की योजना थी। मां के इशारे पर ही उसने बच्चे को बुधवार की देर रात मारने के लिए उठाया था। आरोपित मां को भी गिरफ्तार कर लिया गया है।


Share it
Top