पश्चिम उप्र : कैराना के बाद अब मेरठ के प्रह्लाद नगर से हिन्दुओं का पलायन..'नमो ऐप' पर शिकायत के बाद हुई हरकत

पश्चिम उप्र : कैराना के बाद अब मेरठ के प्रह्लाद नगर से हिन्दुओं का पलायन..नमो ऐप पर शिकायत के बाद हुई हरकत

मेरठ। पूरे देश को हिला देने वाले कैराना पलायन के बाद अब मेरठ के प्रह्लाद नगर से भी पलायन का मामला सामने आया है। लिसाड़ी गेट थाना क्षेत्र के प्रह्लाद नगर से लगभग 125 हिन्दू परिवारों ने अपने मकान बेचकर पलायन कर दिया। मुख्यमंत्री कार्यालय ने आनलाइन शिकायत के बाद रिपोर्ट तलब की है। इससे पुलिस प्रशासन में हड़कंप मच गया है।

कैराना सांसद ने उठाया था पलायन मुद्दा

बढ़ते अपराध, महिलाओं के साथ छेड़छाड़ आदि वारदातों के कारण शामली जनपद के कैराना से हिन्दुओं के पलायन के मुद्दे को कैराना से सांसद रहे स्वर्गीय हुकुम सिंह ने उठाया था। इससे कैराना पलायन पूरे देश में चर्चा का विषय बन गया था। कैराना के साथ-साथ रामपुर, अलीगढ़ से भी हिंदुओं के पलायन की घटनाएं हो रही है।

मुस्लिम बस्तियों से घिरा है प्रह्लाद नगर

मेरठ दक्षिण विधानसभा क्षेत्र का हिस्सा प्रह्लाद नगर कभी हिन्दू बाहुल्य इलाका था। यह क्षेत्र चारों ओर से मुस्लिम बस्तियों से घिरा है। यहां के लोगों का कहना है कि मुस्लिम समाज के असामाजिक तत्व लंबे समय से यहां की महिलाओं से छेड़छाड़ व अभद्रता करते आ रहे हैं। इसलिए यहां से हिन्दू परिवारों का पलायन तेजी से हुआ है। अभी तक यहां से लगभग 125 हिन्दू परिवार अपना मकान बेचकर यहां से जा चुके हैं। आम आदमी का यहां रहना दूभर हो गया है। कई अन्य परिवार भी यहां से अपना मकान बेचकर जाने को तैयार है।

पुलिस प्रशासन कुछ नहीं सुनता

केंद्र और प्रदेश में भाजपा की सरकार होने के बाद भी भाजपा के जनप्रतिनिधियों की आवाज भी पुलिस प्रशासन के अधिकारी नहीं सुन रहे। नगर निगम के वार्ड 56 के भाजपा पार्षद जितेंद्र पाहवा का कहना है कि शरारती तत्वों ने पूरे प्रह्लाद नगर में अराजकता फैलाई हुई है। इससे परेशान होकर लोग यहां से पलायन कर रहे हैं। शिकायत के बाद भी पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों ने कोई कार्रवाई नहीं की।

'नमो ऐप' पर शिकायत के बाद हुई हरकत

भाजपा नेताओं ने स्थानीय स्तर पर सुनवाई नहीं होने पर 'नमो ऐप' पर पूरे मामले की शिकायत की तो कार्रवाई शुरू हुई। प्रधानमंत्री कार्यालय ने तत्काल कार्रवाई करते हुए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री कार्यालय को तत्काल कदम उठाने के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री कार्यालय से मेरठ के जिलाधिकारी व एसएसपी से पूरे मामले पर रिपोर्ट मांगी तो पुलिस प्रशासन में हड़कंप मच गया। एसएसपी ने तत्काल ही सीओ कोतवाली व लिसाड़ी गेट एसओ को जांच करके कार्रवाई के निर्देश दिए।

नरक बना दिया है पूरा प्रह्लाद नगर

प्रह्लाद नगर के लोगों का कहना है कि अराजक तत्वों ने पूरे शहर का ही माहौल खराब किया हुआ है। महिलाओं से छेडछाड़, लूटपाट, घरों में घुसकर अराजकता फैलाई जा रही है। छात्राओं को स्कूल व ट्यूशन भेजने से भी लोग डरने लगे हैं। विरोध करने पर अराजक तत्व मारपीट करते हैं। पुलिस कोई कार्रवाई नहीं करती। घरों के बाहर अराजक तत्व गाड़ी खड़ी कर देते हैं। विरोध करने पर हुड़दंग मचाते हैं। बाइकों से स्टंट करना आम बात हो गई है। किसी से बाइक टकराने पर मारपीट की जाती है।

मेरठ के एसएसपी नितिन तिवारी का कहना है कि पूरे मामले की गंभीरता से जांच कराई जा रही है। जल्दी ही कार्रवाई करके मुख्यमंत्री कार्यालय को रिपोर्ट भेजी जाएगी। कानून व्यवस्था से खिलवाड़ करने का किसी को अधिकार नहीं है।

भाजपा सांसद राजेंद्र अग्रवाल का कहना है कि किसी को भी मेरठ का सामाजिक तानाबाना बिगाड़ने की इजाजत नहीं दी जाएगी। प्रह्लाद नगर प्रकरण पर अधिकारियों से बात करके कार्रवाई कराएंगे।

मेरठ दक्षिण के भाजपा विधायक डाॅ. सोमेंद्र तोमर का कहना है कि प्रह्लाद नगर के मामले को गंभीरता से लिया गया है। पुलिस प्रशासन के अधिकारियों को सख्ती बरतने को कहा गया है। इस समस्या का हल निकाला जाएगा।


Share it
Top