फर्रुखाबाद : कोतवाल ने सरकारी पिस्टल से खुद पर दागी गोली

फर्रुखाबाद : कोतवाल ने सरकारी पिस्टल से खुद पर दागी गोली

फर्रुखाबाद। थाना राजेपुर में बुधवार की देर रात उस समय अफरा तफरी मच गई,जब थानाध्यक्ष ने सरकारी पिस्टल से खुद को गोली मारने का प्रयास किया। उहोंने जैसे ही कनपटी पर पिस्टल रखी वैसे ही वहां मौजूद उनके दोस्त ने उनकी पिस्टल में धक्का मार दिया। जिससे गोली उनको न लगकर दरवाजे में जा लगी।

घटना की सूचना मिलते ही एसपी तथा अन्य अधिकारी मौके पर पहुंच गए। उहोनें थानाध्यक्ष को अवकाश पर घर भेज दिया है। हुआ यूं कि थानाध्यक्ष प्रदीप सिंह अपने दोस्तों के साथ सरकारी आवास पर पार्टी में व्यस्त थे। उसी समय एक फोन उनके पास आया। फोन पर बात करने के दौरान ही प्रभारी निरीक्षक ने अपनी सरकारी पिस्टल से खुद को गोली मारने का प्रयास किया। उहोंने कनपटी पिस्टल पर रख कर गोली मारने का प्रयास किया। उसी समय अचानक उनके एक साथी ने उन्हें धक्का दे दिया। जिससे वह बाल-बाल बच गये। धक्का मारने से गोली दरवाजे में जा लगी। लेकिन उनके सिर व ऊंगली में कुछ चोट आ गई।

सर्विस पिस्टल से गोली चलने की खबर लगते ही पुलिस विभाग में हडकंप मच गया। तत्काल एसपी अनिल कुमार मिश्रा, अपर पुलिस अधीक्षक त्रिभुवन सिंह, सीओ अमृतपुर सुरेन्द्र तिवारी आदि थाना राजेपुर पहुंच गए। उन्होंने जांच पड़ताल की। उसी समय मौके की नजाकत को समझ कर एसपी ने कोतवाल को तत्काल अवकाश पर भेज दिया। पुलिस पूरे मामले को दबाने का प्रयास कर रही है।

एसपी अनिल मिश्रा ने बताया कि प्रभारी निरीक्षक अवकाश पर जा रहे थे। उनके पिता का स्वास्थ्य ठीक नहीं था। उसी दौरान अचानक उनकी सरकारी पिस्टल जमीन पर गिर गई और फायर हो गया। किसी प्रकार से खुद को गोली मारने के प्रयास का मामला प्रकाश में नहीं आया है। फिलहाल जांच की जा रही है।

उठे सवाल राजेपुर थाने में तैनात कोतवाल प्रदीप सिंह के खुद को गोली मारने के प्रयास पर तमाम सवाल खड़े हो गए हैं। 1- थानाध्यक्ष थाने के सरकारी आवास में किन दोस्तों के साथ पार्टी में व्यस्त थे। 2- थानाध्यक्ष के पास किसका फोन आया। 3-फोन करने वाले ने ऐसी कौन सी बात कह दी जिससे थानाध्यक्ष ने तत्काल आत्महत्या का प्रयास किया। 4-थानाध्यक्ष को एसपी ने अवकाश पर घर क्यों भेज दिया। 5-कहीं अवकाश पर जाने के लिए तो थानाध्यक्ष ने यह चाल नहीं चली।



Share it
Top