झांसी आ रही ट्रेन में चोरों ने सर्राफा व्यापारी से डेढ किलो स्वर्णाभूषण और नकदी उड़ाये

झांसी आ रही ट्रेन में चोरों ने सर्राफा व्यापारी से डेढ किलो स्वर्णाभूषण और नकदी उड़ाये



झांसी - जबलपुर से हजरत निजामुद्दीन जा रही महाकौशल एक्सप्रेस में चोरों ने शनिवार को एक सर्राफा व्यापारी को निशाना बनाया । चोर उसका सोने के जेवरात और नकदी से भरा बैग लेकर चंपत हो गये।

यहां राजकीय रेलवे पुलिस (जीआरपी) ने बताया कि ग्वालियर के सर्राफा व्यापारी रवि सिंघई अपने बेटे के साथ जबलपुर से हजरत निजामुद्दीन जा रही ट्रेन संख्या 12189 महाकौशल एक्सप्रेस के स्लीपर कोच एस-01 में सफर कर रहे थे। दोनों सतना से ग्वालियर जा रहे थे। रवि ग्वालियर के रहने वाले हैं और वहां सोने के थोक के व्यापारी हैं । वह सतना सहित अन्य कई स्थानों पर सोने चांदी के आभूषणों की आपूर्ति करते हैं।

ट्रेन जब बेलाताल से हरपालपुर के बीच चल रही थी उसी दौरान दोनों को नींद आ गयी और चोर इसी का फायदा उठाते हुए सोने के आभूषणों और नकदी से भरा बैग लेकर फरार हो गये।

व्यापारी ने झांसी पहुंचकर झांसी जीआरपी में पूरे मामले की जानकारी दी। पुलिस ने मामला पंजीकृत कर लिया है। चोरी की यह वारदात जिस जगह पर हुई वह क्षेत्र जीआरपी महोबा के अधिकार क्षेत्र में आता है इसलिए मामले को जीआरपी महोबा को भेजा जा रहा है। दर्ज करायी गयी प्राथमिकी के अनुसार बैग में डेढ़ किलो के सोने के आभूषण और एक लाख नौ हजार 400 रूपये नकदी तथा एक मोबाइल फोन बताये गये हैं।

रवि सिंघई ने बताया कि जैसे ही उन्हें चोरी की जानकारी हुई तो उन्होंने काफी खोजबीन की लेकिन कोई सुराग नहीं लगा। झांसी पहुंचकर इसकी लिखित शिकायत झांसी जीआरपी से की।

उन्होंने बताया कि फरवरी माह में भी उसके साथ चोरी की वारदात हुए थी तब वह छतरपुर से झांसी के लिए बस में बैठा था। बस जब उल्दन थानान्तर्गत बंगरा चौकी के पास चल रही थी तभी उसका बैग चोरी हो गया, जिसमें लगभग 80 से 90 लाख के जेबरात और नकदी रखी हुई थी। इस घटना की भी शिकायत की थी लेकिन अभी तक कोई सुराग नहीं लगा। यहां तक कि उन्होंने मुख्यमंत्री शिकायत पोर्टल समेत पुलिस के आलाधिकारियों से कई बार शिकायत की लेकिन अभी तक न तो चोर पकड़ा और न ही जेवरातों का कोई सुराग लगा

पीड़ित सर्राफा व्यापारी का कहना है कि वह पूरा व्यापार नम्बर एक में करता है, जिसका वह टैक्स भी चुकाता है। उसके साथ दो बार चोरी की घटना हो चकी है। दो बार चोरी होने से वह पूरी तरह से बर्बाद हो चुका है। अब उसके सामने कोई विकल्प नहीं बचा है।


Share it
Top