आईएएस अधिकारियों के घर आयकर छापा मामले में आयोग अपने निर्णय पर करेगा पुनर्विचार

आईएएस अधिकारियों के घर आयकर छापा मामले में आयोग अपने निर्णय पर करेगा पुनर्विचार

लखनऊ। उत्तर प्रदेश सूचना आयोग एक्टिविस्ट डॉ. नूतन ठाकुर को तीन आईएएस अफसरों के घर आयकर विभाग द्वारा छापे मारे जाने से सम्बंधित सूचना देने के अपने आदेश पर पुनर्विचार करेगा।

नूतन ने सत्येन्द्र कुमार सिंह, ह्रदय शंकर तिवारी व विमल कुमार शर्मा के यहां आयकर विभाग के छापे के सम्बन्ध में नियुक्ति विभाग द्वारा की गयी कार्यवाही का विवरण मांगा था, जिसे विभाग ने देने से मना कर दिया।

आयोग ने यह कहते हुए एक माह में वांछित सूचना उपलब्ध कराने के निर्देश दिए थे कि मांगी गयी सूचना नियुक्ति विभाग के अभिलेखों से संबंधित है, जो आरटीआई एक्ट की धारा 8(1)(एच) में निषिद्ध नहीं है।

बाद में नियुक्ति विभाग ने आयोग से अनुरोध किया कि यह सूचना देने से इन तीन आईएएस अधिकारियों की निजता का हनन होगा तथा उनके बैंक अकाउंट, इनकम टैक्स आदि सार्वजनिक होंगे। इसके साथ ही अन्य कार्मिक, जिनके विरुद्ध कार्यवाहियां की जा रही है, की सूचना भी सार्वजनिक होगी। विमल शर्मा तथा ह्रदय शंकर तिवारी ने भी आयोग के समक्ष इस फैसले का विरोध किया।

नूतन ने शुक्रवार को बताया कि इन अनुरोध को स्वीकार कर मुख्य सूचना आयुक्त जावेद उस्मानी ने अपने आदेश पर रोक लगाते हुए 22 जुलाई 2019 को अगली सुनवाई नियत की है।


Share it
Top