देवबंद : गुरू हरगोबिंद साहिब का प्रकाश पर्व हर्षोल्लास से मनाया


कीर्तन उपरांत गुरू का लंगर बरताया गया

देवबंद (गौरव सिंघल)। देवबंद गुरूद्वारा श्री गुरूनानक सभा में छठे पातशाह साहिब श्री हरगोबिंद जी का प्रकाश पर्व श्रद्धा व उत्साह से मनाया गया। रागी जत्थों ने गुरवाणी का गायन कर संगतों को निहाल किया। गुरूद्वारा साहिब में आयोजित कार्यक्रम में संगतों को सम्बोधित करते हुए गुरूद्वारा कमेटी के प्रधान सेठ कुलदीप कुमार ने कहा कि गुरू हरगोबिंद

साहिब जी का जन्म पंचम पातशाह श्री गुरू अरजन देव जी महाराज के घर माता गंगा जी की कोख से हुआ था। उनके जन्म से पूर्व ही बाबा बुड्ढा जी ने माता गंगा जी को वरदान दिया था कि उनके घर ऐसा पुत्र होगा जो दुश्मनोंं की ईंट से ईंट बजा देगा। युवा पंजाबी क्लब के अध्यक्ष गुरजोत सिंह सेठी ने कहा कि सिख पंथ में पांच गुरूओं तक सभी ने भक्ति का संदेश दिया लेकिन अपने पिता गुरू अरजन देव जी को मुगल बादशाह जहांगीर द्वारा शहीद करने के बाद

गुरू गद्दी पर बैठे गुरू हरगोबिंद जी ने मीरी- पीरी की दो कृपाण धारणकरते हुए भक्ति के साथ साथ शस्त्र विद्या हासिल करके जबर व जुल्म के खिलाफ आवाज उठाने का संगतों को संदेश दिया। गुरू जी ने अमृतसर में अकाल तख्त साहिब की स्थापना की जो सिख पंथ की सर्वोच्च संस्था है। गुरू जी ने अपने जीवन काल में लड़ी सभी जंगो में फतेह हांसिल की। इससे पूर्व ज्ञानी नितिन सिंह, अमरदीप सिंह व चंद्रदीप सिंह ने गुरवाणी का गायन कर संगतों

को निहाल किया। अरदास उपरांत परम्परागत मिस्सी रोटी, लस्सी और प्याज का लंगर वितरित किया गया। कार्यक्रम में इंद्रपाल सिंह सेठी, वीरेंद्र सिंह उप्पल, जोगेंद्र सिंह बेदी, सचिन छाबड़ा, रवि होरा, गुरदीप सिंह, जितेंद्र मल्होत्रा, राजपाल नारंग, बलदीप सिंह, चरण सिंह, अमृत सिंह कपूर, सन्नी सेठी, सिमरनजीत सिंह, राजपाल राजू, प्रिंस कपूर आदि मौजूद थे।

Share it
Top