भारतीय टीम की जीत का जश्न मनाने के दौरान मारी गई गोली

भारतीय टीम की जीत का जश्न मनाने के दौरान मारी गई गोली

कानपुर। कर्नलगंज थानाक्षेत्र में राजकीय इंटर कॉलेज (जीआईसी) के छात्रावास कर्मी को संदिग्ध हालात में युवक को गोली मार दी गई। उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया है। घटना को लेकर घायल व उसका भाई पुलिस को कुछ नहीं बता रहे हैं।

आगरा के हरी नगर में रहने वाले अनिल गुप्ता का बेटा माधव व अमन जनपद के कर्नलगंज में चुन्नीगंज स्थित राजकीय इंटर कॉलेज (जीआईसी) के छात्रावास में कर्मचारी है। उनके ठीक सामने ही पुलिस रिक्रूट छात्रावास भी बना हुआ है, जहां काफी संख्या में ट्रेनी आरक्षी रहते हैं। रविवार देर रात भारत ने पाकिस्तान को जैसे ही विश्वकप में खेले गये मैच में मात दी, वैसे ही जीआईसी छात्रावास में खुशियां मनाई जाने लगी। उत्साहित कुछ छात्रों द्वारा आतिशबाजी भी की गई। खुशी में छात्रावास कर्मी अमन भी आतिशबाजी कर रहा था, तभी अचानक गोली चली और अमन को लगी। गोली लगते ही वह लहुलूहान होकर जमीन पर गिर पड़ा। आतिशबाजी के चलते पुलिस रिक्रूट छात्रावास में रहने वाले आरक्षी कुछ नहीं समझ सके। इस बीच घटना की जानकारी पर अमन को घायल हालत में भाई माधव साथियों के साथ हैलट अस्पताल लेकर पहुंचा और इमरजेंसी में भर्ती कराया।

सोमवार को जैसे ही इस मामले की जानकारी कर्नलगंज इंस्पेक्टर वीरेन्द्र बहादुर सिंह को हुई तो वह जीआईसी हॉस्टल पहुंचे। वहां गोली लगने की घटना से सभी ने इंकार कर दिया जिसके बाद सुराग लगाते हुए इंस्पेक्टर अस्पताल पहुंचे। इंस्पेक्टर ने बताया कि युवक के कंधे में गोली लगी है और घायल हालत में उसका अस्पताल के वार्ड पांच में इलाज चल रहा है। घटना को लेकर घायल व उसका भाई कुछ भी बताने को तैयार नहीं है और न ही तहरीर ही दे रहे हैं। घटना संदिग्ध लग रही है। संभवतः हॉस्टल में रहने वालों से पूछताछ करते हुए घटना का पता लगाया जा रहा है।


Share it
Top