17 पीपीएस अफसर बने आईपीएस

17 पीपीएस अफसर बने आईपीएस

लखनऊ। प्रदेश पुलिस सेवा (पीपीएस) के 17 अफसरों का आईपीएस संवर्ग में प्रमोशन कर दिया गया। ये सभी 1991 बैच के पीपीएस अफसर हैं। गुरुवार को केंद्रीय गृह मंत्रालय ने उनके आईपीएस बनने की नोटिफिकेशन जारी कर दी थी। पिछले दिनों दिल्ली में हुई विभागीय प्रोन्नत समिति (डीपीसी) की बैठक में 18 पीपीएस अफसरों के प्रमोशन पर मुहर लग गई थी। इन 18 अफसरों में एक का लिफाफा अभी बंद रखा गया है।

राज्यों में आईपीएस सेवा के कुल पदों में 33% पद प्रमोटी पीपीएस अफसरों से भरे जाते हैं। यूपी में 571 आईपीएस के पदों में 157 पद पीपीएस अफसरों के लिए हैं। दिसंबर 2018 में 18 आईपीएस अफसरों के रिटायर होने के बाद 139 पद रह गए थे। इसके बाद जनवरी 2019 में केंद्र सरकार की तरफ से आईपीएस अफसरों के पद भरने के लिए नॉमिनेशन मांगे गए थे। इन पदों के सापेक्ष प्रदेश सरकार ने 54 अफसरों के नाम भेजे थे। डीपीसी में सभी अफसरों के नाम पर मंथन के बाद 18 अफसरों के प्रमोशन को मंजूरी मिल गई थी। इनमें एक को छोड़ बाकी 17 अफसरों के प्रमोशन की अधिसूचना जारी कर दी गई।

ये हुए प्रमोट

आईपीएस संवर्ग पाने वाले अफसरों में ओम प्रकाश सिंह, मानिक चंद्र सरोज, सुनीता सिंह, राजेश कुमार सिंह, राकेश कुमार पाण्डेय, अशोक कुमार राय, सुधा सिंह, मोहम्मद निजाम हसन, दिनेश सिंह, अष्टभुजा प्रसाद सिंह, बृजेश सिंह, रामयज्ञ, कमला प्रसाद यादव, राम बदन सिंह, अरविंद कुमार मौर्य, तेज स्वरूप सिंह और सुभाष चंद्र शाक्य शामिल हैं। इनमें अष्टभुजा प्रसाद सिंह इस समय एसपी क्राइम के पद पर लखनऊ में तैनात हैं, जबकि दिनेश सिंह लखनऊ में इस पद पर रह चुके हैं। अप्रैल के अंतिम हफ्ते में हुई डीपीसी की बैठक में यूपी के डीजीपी ओम प्रकाश सिंह और प्रमुख सचिव गृह अरविंद कुमार ने भी शिरकत की थी।

Share it
Top