उप्र में आसमान से बरस रही आग, मंगलवार को कुछ स्थानों पर आंधी के आसार

उप्र में आसमान से बरस रही आग, मंगलवार को कुछ स्थानों पर आंधी के आसार

लखनऊ। प्रदेश में आसमान से आग बरसने का सिलसिला जारी है। रविवार सुबह भी आसमान पूरी तरह से साफ रहा। दिन बढ़ने के साथ गर्मी अपने तेवर दिखाती रही। ऐसे में छुट्टी होने की वजह से लोग घरों से कम ही बाहर निकले और सड़कों पर भी यातायात का दबाव कम रहा।

मौसम विभाग के मुताबिक प्रदेश में सभी जगह प्रचण्ड गर्मी का असर बना हुआ है। बुन्देलखण्ड में तो पथरीली धरती होने के कारण लोगों को गर्मी और बेहाल कर रही है। यहां लगातार अधिकतम तापमान बना हुआ है। बीते चौबीस घंटो में प्रदेश में बांदा सबसे गरम स्थान रहा। यहां तापमान 45.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। इसके अलावा 23.4 डिग्री सेल्सियस के साथ प्रदेश में फतेहगढ़ में न्यूनतम तापमान दर्ज किया गया। राजधानी लखनऊ और आसपास के क्षेत्रों में अगले चौबीस घंटों में न्यूनतम तापमान 28 डिग्री और अधिकतम तापमान 42 डिग्री सेल्सियस रहने की सभावना है।

मौसम विभाग के मुताबिक रविवार को आगरा का न्यूनतम तापमान 28 डिग्री और अधिकतम तापमान 45 डिग्री, अलीगढ़ का न्यूनतम तापमान 27 डिग्री और अधिकतम तापमान 44 डिग्री, इलाहाबाद का न्यूनतम तापमान 29 डिग्री और अधिकतम तापमान 45 डिग्री, बहराइच का न्यूनतम तापमान 27 डिग्री और अधिकतम तापमान 39 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

इसके अलावा बांदा का न्यूनतम तापमान 29 डिग्री और अधिकतम तापमान 47 डिग्री, बरेली का न्यूनतम तापमान 27 डिग्री और अधिकतम तापमान 42 डिग्री, गोरखपुर का न्यूनतम तापमान 29 डिग्री और अधिकतम तापमान 42 डिग्री, झांसी का न्यूनतम तापमान 30 डिग्री और अधिकतम तापमान 47 डिग्री, कानपुर का न्यूनतम तापमान 27 डिग्री और अधिकतम तापमान 43 डिग्री, लखनऊ का न्यूनतम तापमान 28 डिग्री और अधिकतम तापमान 42 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

वहीं मेरठ का न्यूनतम तापमान 26 डिग्री और अधिकतम तापमान 42 डिग्री, मुरादाबाद का न्यूनतम तापमान 27 डिग्री और अधिकतम तापमान 41 डिग्री और वाराणसी का न्यूनतम तापमान 28 डिग्री और अधिकतम तापमान 44 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।

आंचलिक मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक जेपी गुप्ता ने बताया कि फिलहाल शुष्क मौसम बना रहेगा। इस वजह से गर्मी लोगों को अभी परेशान करेगी। हीट वेव की जो स्थिति बनी हुई है, वह अभी भी जारी है। सोमवार को भी स्थिति में परिवर्तन की सम्भावना नहीं है। इसके बाद मंगलवार को मौसम में परिवर्तन होने के आसार हैं। 30 से 40 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से धूल भरी आंधी चल सकती है।

इसके अलावा कुछ स्थानों पर गरज-चमक के साथ बूंदाबांदी भी हो सकती है। बुधवार को लोगों को फिर गर्मी का प्रकोप झेलना पड़ सकता है। हालांकि प्रदेश के पश्चिमी और पूर्वी हिस्सों में आंधी के भी आसार हैं। वहीं नोएडा, गाजियाबाद और आसपास के क्षेत्र में भीषण गर्मी और लू लोगों की मुश्किलें बढ़ाती नजर आयेगी। इस मौसमी हलचल का कारण उस क्षेत्र पर बहने वाली हवाओं को माना गया है जो पाकिस्तान और राजस्थान से आ रहे हैं जहां तापमान पहले से ही बहुत अधिक है। इस समय हवा की गति भी बदलकर दक्षिणी, दक्षिण-पश्चिमी हो गई है।

इसके अलावा, एक निम्न दबाव क्षेत्र जो कि आगे तीव्र होने की उम्मीद है, वह पश्चिमी तटीय भागों की तरफ आगे बढ़ रहा है। इसके कारण एनसीआर में उमस भरी हवाएं भी चलेंगी। अधिकतम तापमान और उमस में वृद्धि होने के कारण यहां बादल विकसित होंगे और हल्की बारिश की संभावना है। यह मौसमी गतिविधियां 14 या 15 जून तक एनसीआर में जारी रहेंगी। इसके बाद भी प्री-मॉनसून गतिविधियां समाप्त या कम नहीं होंगी और एक या दो दिनों के अंतराल के बाद फिर से गरज के साथ बारिश की उम्मीद है।


Share it
Top