देवबंद : उपद्रव और आगजनी प्रकरण में 30 नामजद समेत 200 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज

देवबंद : उपद्रव और आगजनी प्रकरण में 30 नामजद समेत 200 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज

गिरफ्तारियां शुरू, देवबंद क्षेत्र में हादसे में बाप बेटी सहित तीन की मौत के बाद गुस्साए ग्रामीणों ने कई वाहनों को आग के हवाले किया था

देवबंद (गौरव सिंघल)। पुलिस ने देवबंद क्षेत्र में सड़क हादसे में पिता, पुत्री समेत 3 लोगों की मौत के बाद हुए उपद्रव व आगजनी के मामले में कई गांव के 30 नामजद समेत 200 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर ताबड़ तोड़ गिरफ्तारियां शुरू कर दी है।

इस प्रकरण में कार्रवाई किये जाने को लेकर एसपी देहात विद्यासागर मिश्र ने आज देवबंद कोतवाली पर पुलिस अधिकारियों की बैठक ली, और निर्देश दिये कि इस प्रकरण में निष्पक्षता के साथ तत्काल प्रभावी कार्रवाई की जाये। बैठक में सीओ देवबंद अजय शर्मा, सीओ देहात चौब सिंह, कोतवाली प्रभारी देवबंद कुलदीप सिंह समेत कई उपनिरीक्षक शामिल रहे।

एसपी देहात मिश्र ने संवाददाताओं को बताया कि पुलिस में आधा दर्जन लोगों को हिरासत में लिया है। पुलिस वीडियो ग्राफी के आधार पर उपद्रवियों की पहचान कर गिरफ्तारी करने में लगी है। सीओ देवबंद पीएसी के साथ गांवों में दबिश दे रहे हैं।

एसपी देहात ने बताया कि वृहस्पतिवार की रात देवबंद कोतवाली क्षेत्र के देवबंद गोपाली सड़क मार्ग पर एक बेकाबू डीसीएम ने एक के बाद एक दो कारों को टक्कर मार दी थी। जिससे एक कार में सवार पिता पुत्री समेत तीन लोगों की मौत हो गई थी।डीसीएम चालक विजयपाल भी गंभीर रुप से घायल हो गया था। बीती रात देवबंद थाना क्षेत्र में हुए इस हादसे से गुस्साए कई गांवों के सैकड़ों लोगों ने आधा दर्जन वाहनों पर पथराव और आगजनी कर लाखों की सम्पत्ति को नुकसान पहुंचाया था। देर रात उच्चाधिकारियों ने पीएसी और कई थानों की पुलिस की सहायता से हालात पर काबू पाया था।

पुलिस के मुताबिक दिनांक 6 जून की रात देवबंद सापंला रोड पर देवबंद की ओर आ रहे डीसीएम चालक विजयपाल ने एक के बाद एक दो कारों में टक्कर मार दी। गांव थीतकी की ओर कार से जा रहे तीन लोगों की इस हादसे में मौत हो गई। गांव निवासी 36 वर्षीय ताबिश और 19 वर्षीय सुहेब पुत्र नसीम की मौके पर ही मौत हो गई जबकि देर रात देवबंद सीएचसी में ताबिश की दो वर्षीय पुत्री इनाया ने दम तोड़ दिया। डीसीएम कार चालक विजयपाल पुत्र पेरु निवासी थाना मंडी क्षेत्र मुजफ्फरनगर को पुलिस ने बड़ी मुश्किल से वाहन से बाहर निकाला। उसकी दोनों टांगें डीसीएम में बुरी तरह से फंसी हुई थी। उसे नाजुक हालत में जिला अस्पताल भेजा गया।

हादसे से गांव थीतकी, सांपला खत्री, सांपला बक्काल और फुलास अकबरपुर के सैकड़ों लोग घटना स्थल पर पहुंच गए। उन्होंने उधर से आ जा रहे ट्रक और दूसरे वाहनों को निशाना बनाया। शीशे से भरे एक ट्रक में आग लगने से भारी नुकसान हुआ। सीओ देवबंद अजय शर्मा ने बताया कि फायर बिग्रेड की गाड़ियों को मौके पर बुलाकर दो ट्रकों में लगी आग को बुझवाया। लोगों ने कई कारों के शीशे भी तोड़ दिए। पुलिस ने ग्रामीणों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है। आगजनी और हमला करने वालों की पहचान कर पुलिस कार्रवाई करने में जुटी है। एसडीएम देवबंद राकेश कुमार ने बताया कि हादसे में जिन तीन लोगों की जान गई है उनके परिजनों को पाँच-पाँच लाख का मुआवजा देने की कार्रवाई की जा रही है। ग्रामीणों के मुताबिक डीसीएम कार चालक विजयपाल नशे की हालत में था। इस बारे में पुलिस अधिकारियों का कहना है कि चालक की हालत गंभीर है। वह जिला अस्पताल सहारनपुर में भर्ती है। उसका मेडिकल कराकर यह मालूम कराया जाएगा कि हादसे के वक्त वह नशे में था या नहीं।

Share it
Top