सोहरका दोहरे हत्याकांड की इकलौती गवाह की सुरक्षा हटी, महिला ने जताया जान का खतरा

सोहरका दोहरे हत्याकांड की इकलौती गवाह की सुरक्षा हटी, महिला ने जताया जान का खतरा

मेरठ। परतापुर के सोहरका गांव में लगभग एक वर्ष पहले हुई निछत्तर कौर और उनके बेटे बलविंदर की हत्या का मामला अभी कोर्ट में विचाराधीन है। वहीं इस हत्याकांड की इकलौती गवाह बलविंदर की पत्नी कंचन की पुलिस सुरक्षा अचानक हटा दी गई। पीड़ित महिला ने बुधवार को एसएसपी से मिलकर खुद की जान का खतरा बताया है।

कंचन ने बताया कि उसकी सुरक्षा के लिए तैनात किये गये 12 पुलिसकर्मियों में से 8 को अचानक हटा दिया गया है। आरोपितों में से कुछ लोग जमानत पर बाहर हैं और लगातार उसे धमकी दे रहे हैं। इसके बावजूद पुलिस द्वारा सुरक्षा बढ़ाए जाने के स्थान पर उल्टा सुरक्षाकर्मियों को घटा दिया गया। ऐसे हालात में उसके परिवार पर मौत की तलवार लटक रही है।

कंचन ने वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक नितिन तिवारी से अपनी सुरक्षा बहाल किए जाने की मांग की। वहीं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने इस मामले में कमेटी से बात कर पीड़ित महिला को और अधिक सुरक्षाकर्मी दिए जाने पर विचार की बात कही है।

गौरतलब है कि निछत्तर और उनका पुत्र बलविंदर निछत्तर के पति की हत्या के मामले में गवाह थे। लेकिन गवाही से पहले ही जमानत पर चल रहे आरोपितों में दोनों मां बेटों की गोलियों से छलनी करके दिनदहाड़े हत्या कर डाली थी। इसके बाद इस दोहरे हत्याकांड की इकलौती गवाह बलविंदर की पत्नी कंचन को पुलिस की कड़ी सुरक्षा मिली हुई थी।


Share it
Top