रोजा इफ्तार में धतूरे का पकौड़ा खाने से सात बीमार

रोजा इफ्तार में धतूरे का पकौड़ा खाने से सात बीमार

वाराणसी। रोजा इफ्तार में भूलवश एक परिवार के सात सदस्यों ने धतूरे का पकौड़ा खा लिया। थोड़ी देर बाद ही सभी की हालत बिगड़ने पर परिजनों ने उन्हें तत्काल कबीरचौरा स्थित मंडलीय शिवप्रसाद गुप्त अस्पताल में भर्ती कराया। मंगलवार को उनकी स्थिति में थोड़ा सुधार हुआ है।

जैतपुरा थाना क्षेत्र के लाट सरैया निवासी कुरबान अली के परिवार के सदस्य इन दिनों माहे रमजान में रोजा रख रहे हैं। कुरबान के परिवार के एक सदस्य के हाथ में चोट लगने पर उसके इलाज के लिए धतूरा और उसका पत्ता लाया गया था। घायल के हाथ पर धतूरा बांधने के बाद बाकी घर में रख दिया गया। सोमवार की शाम रोजा इफ्तार के समय परिवार की एक बच्ची ने धतूरा और उसके पत्ते को फल समझ कर काटकर उसकी पकौड़ी तल दी। इसके बाद इफ्तार के समय फलों के साथ पकौड़ी भी खाने में परोसी गई।

परिवार के सात सदस्यों ने पकौड़ी खा ली। थोड़ी देर बाद एक-एक ​करके सभी की हालत बिगड़ने पर उन्हें परिजनों ने अस्पताल में पहुंचाया। बाद में परिजनों को बच्ची से सच्चाई का पता चला तो उन्होंने सिर पकड़ लिया। बीमार सदस्यों में कुरबान अली (60), उनकी पत्नी शाहजहां (55), पुत्र निहालुद्दीन 30 वर्ष, नसरीन जहां 20 वर्ष, रियाजूद्दीन 28 वर्ष, इसरत जहां 13 वर्ष व अलाउद्दीन 20 हैं। इन सभी का इलाज कबीरचौरा स्थित मंडलीय शिवप्रसाद गुप्त अस्पताल में चल रहा है।


Share it
Top