सहारनपुर : 28 मई को अपने पुराने स्वरूप में नजर आएगी पांवधोई नदी: मण्डलायुक्त सीपी त्रिपाठी

सहारनपुर : 28 मई को अपने पुराने स्वरूप में नजर आएगी पांवधोई नदी: मण्डलायुक्त सीपी त्रिपाठी


सहारनपुर (गौरव सिंघल)। मण्डलायुक्त सहारनपुर सी.पी.त्रिपाठी ने 28 मई को पांवधोई नदी पर जलोत्सव कार्यक्रम को ध्यान में रखते हुए नदी पर कराये जा रहे कार्यों का आज निरीक्षण किया। इस मौके पर उन्होंने कहा कि सहारनपुर की जनता व सब लोग मिलकर यह प्रयास करें कि नदी को निरन्तर स्वच्छ व निर्मल रखा जा सके।उन्होने कहा कि 28 को सहारनपुर वासी के अलावा देश व प्रदेश के महान

साधु-सन्त भी जलोत्सव में सहभागिता कर पूरे मंत्रोच्चारण के साथ नदी की पूजा अर्चना करेंगे। जिला प्रशासन इस बात के लिए कटिबद्ध है कि नदी और अधिक स्वच्छ व निर्मल हो जाए ताकि लोग उतरकर उसमें स्नान कर सकें। उन्होंने लोगों का एक बार फिर से आहवन किया कि नदी में गन्दगी न डाले।

उन्होंने इस बात पर प्रसन्नता व्यक्त की कि आसपास के लोगों ने अपने सीवर बन्द कर लिये हैं, अब काफी हद तक पानी साफ हो चुका है। उन्होने आशा

व्यक्त की कि प्रथम चरण के कार्य से ही नदी पूरी तरह से स्नान करने लायक हो जाएगी। जनपदवासी के सामूहिक प्रयास से पांवधोई नदी को पुनर्जीवित करने का पुरजोर प्रयास किया जा रहा है। 28 मई

को जनप्रतिनिधिगण भी प्रतिभाग करेंगे। उन्होंने कहा कि इसके पहले नदी पर दीपोत्सव का कार्यक्रम किया जा चुका है। उन्होंने पूर्वांचल कल्याण सभा

द्वारा दिये जा रहे सहयोग की भी प्रशंसा की। साथ ही नगर निगम द्वारा कराये जा रहे कार्यों पर भी प्रसन्नता व्यक्त की। उन्होंने इस बात पर भी खुशी व्यक्त की कि आसपास के लोगों ने अपनी दीवारों पर स्लोगन लिखवाकर नदी को स्वच्छ बनाये रखने पर बल दिया है। उन्होंने कहा कि अब लोग सुबह-शाम

पांवधोई नदी पर सैर करने के लिए भी आने लगे हैं।

अधिशासी अभियंता सिंचाई विकास त्यागी ने बताया कि पांवधोई नदी पर एक भव्य नये चैकडैम का निर्माण पूर्ण होने जा रहा है। चैक डैम में ही नदी की

डिसहिल्टिंग हेतु रेगूलेटर बनाया जा रहा है। दोनों किनारों को आपस में जोड़ने हेतु पैदल पुल का निर्माण किया जा रहा है। बांये किनारे पर नये घाट

का निर्माण पूर्ण कर लिया गया है। लाल दास के बाड़े से बालाजी घाट के मध्य नदी के चैनलाईजेशन किनारों पर पेचिंग व पैदल पथ का निर्माण किया गया है। घाटों की पेटिंग की जा रही है। सैर करने वाले व आने वाले लोगों के बैठने के लिए पैरापिट का निर्माण किया गया है। उन्होंने कहा कि 28 मई को

जलोत्सव कार्यक्रम को दृष्टिगत रखते हुए तेजी से कार्य कराये जा रहे हैं। इस मौके पर मण्डलायुक्त सी.पी.त्रिपाठी ने पत्रकार वार्ता की व नदी की धार्मिक मान्यताओं पर भी अपने विचार प्रकट किये। इस मौके पर नगर आयुक्त ज्ञानेन्द्र सिंह, अधिशासी अभियंता विकास त्यागी आदि मौजूद रहे।

Share it
Top