अपने पार्टी के नेताओं से 84 दंगों पर माफ़ी मंगवाएं सिद्धू-निरंजन ज्योति

अपने पार्टी के नेताओं से 84 दंगों पर माफ़ी मंगवाएं सिद्धू-निरंजन ज्योति



वाराणसी।केद्रीय मंत्री और भाजपा की फायर ब्रांड नेता साध्वी निरंजन ज्योति ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर अमर्यादित टिप्पणी करने वाले कांग्रेस के नेता और पूर्व क्रिकेटर नवजोत सिंह सिद्धू पर पलटवार किया है। उन्होंने सिद्धू को चुनौती देते हुए कहा कि अगर उनमें हिम्मत है तो 84 दंगों पर अपने पार्टी के नेताओं से माफ़ी मंगवाएं।

शनिवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के चुनाव प्रचार अभियान में आई साध्वी पक्के महालों में घर-घर जनसम्पर्क के बाद मीडिया से रूबरू थी। साध्वी ने महागठबंधन के नेताओं खास कर सपा मुखिया अखिलेश यादव पर निशाना साध कहा कि जो पिता और चाचा का नहीं हुआ वो बुआ का क्या होगा।

बसपा मुखिया मायावती पर तंज कसते हुए कहा कि प्रधानमंत्री तो क्या अब उत्तर प्रदेश की मुख़्यमंत्री भी नहीं बनने वाली। गठबंधन का एक पहिया तो पहले ही पंक्चर हो गया है।

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के बयानों से जुड़े सवाल पर साध्वी ने कहा कि प्रियंका गांधी अभी नई आयी हैं। राजनीति में इन्हें जो लिख के दिया जाता है वही बोलती हैं।

चुटकी लेते हुए साध्वी ने कहा कि अमेठी और रायबरेली मेरे संसदीय क्षेत्र से करीब हैं। आज भी वहां सड़कें बदहाल हैं।

एक सवाल के जबाब में उन्होंने कहा कि प्रियंका की हिम्मत भी वाराणसी आने की तब पड़ी जब प्रधानमंत्री ने गंगा को निर्मल और इस लायक कर दिया की उसमें नाव चल सके। अमेरिका के टाइम्स पत्रिका द्वारा प्रधानमंत्री को 'इंडियाज़ डिवाइडर इन चीफ' बताने के सवाल पर उन्होंने कहा कि राजनीतिक षड्यंत्र के तहत पत्रिका में खबर छापी गयी है। प्रधानमंत्री मोदी को भारत ही नहीं पूरा विश्व उनके कार्यशैली के लिए मानता है।


Share it
Top