मेरठ- मासूम बच्चियों से घृणित कृत्य की जांच के लिए डीएम ने बनाई समिति

मेरठ- मासूम बच्चियों से घृणित कृत्य की जांच के लिए डीएम ने बनाई समिति


मेरठ। मेडिकल थाना क्षेत्र की जागृति विहार कॉलोनी में पूर्व बीमा अधिकारी द्वारा बच्चियों को संगीत सिखाने के बहाने बुलाकर उनके साथ घिनौने कृत्य की जांच के लिए डीएम ने समिति का गठन किया है। इस समिति में एडीएम सिटी और जिला प्रोबेशन अधिकारी को शामिल किया गया है। इस घिनौने कृत्य में तीन मुकदमे दर्ज किए गए हैं।

जागृति विहार सेक्टर छह की आलीशान कोठी में एलआईसी के पूर्व अधिकारी विमल चंद्र द्वारा मासूम बच्चियों से घिनौना कार्य करने का मामला तूल पकड़ गया है। कई महीनों से बच्चियों के साथ दरिंदगी करते हुए क्लिप सीसीटीवी में कैद हुई। इस मामले में बच्चियों की मां, चाइल्ड लाइन और पुलिस ने आरोपित बीमा अधिकारी और सीसीटीवी ठीक करने वाले युवक के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है। इस मामले की गूंज लखनऊ तक होने के बाद जिलाधिकारी अनिल ढींगरा ने पूरे मामले की जांच के लिए दो सदस्यीय जांच समिति का गठन किया है। समिति में एडीएम सिटी और जिला प्रोबेशन अधिकारी को शामिल किया गया है। समिति को अपनी जांच रिपोर्ट जल्दी सौंपने को कहा गया है।

इस पूरे प्रकरण में मेडिकल पुलिस की मिलीभगत भी सामने आ रही है। सीसीटीवी ठीक करने वाले युवक ने कैमरे में कैद इन घिनौनी हरकतों को अपने पैन ड्राइव में काॅपी कर लिया और आरोपित को ब्लैकमेल करने लगा। इसके बाद मेडिकल पुलिस और आरोपित में मिलीभगत हो गई। सूत्रों का कहना है कि इसमें मेडिकल एसओ की भूमिका संदिग्ध है। पुलिस के आला अधिकारी भी इस मामले की जांच कर रहे हैं।संगीत सिखाने के बहाने बच्चियों को बुलाता थाजागृति विहार की आलीशान कोठी में आरोपित विमल चंद्र ने बच्चियों को संगीत सिखाने के बहाने बुलाता था। साथ ही घर में परवरिश करने का झांसा देता था। पुलिस को मौके से काफी संख्या में पायजेब व घुंघरू मिले। बच्चियों को संगीत सिखाने के बहाने बुलाकर आरोपित उनका शोषण करता था।


Share it
Top