प्रॉपर्टी डीलर को दुष्कर्म के झूठे मामले में फसाने पर चौकी प्रभारी व दो सिपाही निलंबित

प्रॉपर्टी डीलर को दुष्कर्म के झूठे मामले में फसाने पर चौकी प्रभारी व दो सिपाही निलंबित


साज़िश में महिला व दो भूमाफिया भी शामिल

गाजियाबाद। लोनी बार्डर में सोमवार को एक प्रापर्टी डीलर के खिलाफ दो भूमाफियाओं से मिली-भगत करने वाले चौकी प्रभारी, दो सिपाही व एक महिला के खिलाफ बलात्कार का झूठा मामला दर्ज करने, पैसों की मांग करने, परिवार से अभद्रता करने व भ्रष्टाचार निवारण अधिनिय़म के तहत एफआईआर दर्ज कराई गयी है। यह एफआईआर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक के आदेश पर दर्ज की गयी है। एसएसपी ने तीनों पुलिस कर्मियों को निलंबित कर दिया है।

लक्ष्मी गार्डन, लोनी बार्डर निवासी प्रापर्टी डीलर नवाब अली सैफी ने वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक को शिकायती पत्र भेजा था, जिसमें कहा गया कि भूमाफिया राकेश खुराना और परविंदर से उसकी मुकदमेबाजी चल रही है। मंडलायुक्त के यहां से भी जांच चल रही है। दोनों आरोपी सरकारी और गैर सरकारी जमीनों पर कब्जे करते हैं। पत्र में आरोप लगाया गया कि 23 मार्च को पुलिस से मिलीभगत कर इन लोगों ने एक महिला को उसके घर भेजा। महिला ने प्लाॅट दिखाने को कहा तो उसने यह कहकर मना कर दिया कि घर पर मेहमान आए हुए हैं, शादी का माहौल है, वह उसके साथ नहीं जा सकता।

शाम को इंद्रापुरी चौकी प्रभारी आशुतोष तरार ने फोन कर उसे बुलाया कि उसके खिलाफ एक महिला ने बलात्कार का मामला लिखवाया है। नवाब का कहना है कि वह चौकी पर गया तो एक महिला बैठी थी, उसे दिखाया तो उसने मना कर दिया कि यह वो नवाब नहीं है। हेड कांस्टेबल विजय शर्मा ने उसका मोबाइल छीन लिया गया। उसमें से नंबर डीलिट कर दिए गए। बातचीत की वीडियो डीलिट कर दी गई। उससे 60 हजार रुपये की मांग की गई। जाने के मारने की धमकी दी गई। सिपाही जावेद ने जान मारने की धमकी दी। इसके बाद ये लोग उसके घर पर पहुंचे और उसके परिवार की महिलाओं के साथ बदसलूकी की गयी ।

उसने आरोप लगाया कि पांच अप्रैल को उसके खिलाफ 23 अप्रैल को बलात्कार किए का मामला पंजीकृत कर दिया गया। उससे फैसले के नाम पर और अधिक धन की मांग करने लगे। नवाब ने वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक को बताया कि उसके पास सभी ऑडियो और वीडियो क्लिप हैं। जिसके बाद वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने इस मामले को गंभीरता से लिया और दोनों प्रापर्टी डीलर, चौकी प्रभारी आशुतोष तरार , हेड कांस्टेबल विजय शर्मा, कांस्टेबल जावेद व बलात्कार का आरोप लगाने वाली महिला को नामजद कर कार्रवाई करने क आदेश दिया। जिसके बाद लोनी बार्डर में रिपोर्ट दर्ज कर दी गयी। तीनों पुलिस कर्मियों को निलंबित कर दिया गया है।


Share it
Top