बूचड़खाना पर सख्त हुए अधिकारी, अवैध रूप से चल रहा मीट प्लांट सील

बूचड़खाना पर सख्त हुए अधिकारी, अवैध रूप से चल रहा मीट प्लांट सील



मेरठ। प्रदेश की सत्ता में आने के बाद योगी सरकार द्वारा अवैध बूचड़खानों को बंद कराए जाने के क्रम में शनिवार को जिले के एक और अवैध बूचड़खाने पर पुलिस प्रशासनिक अधिकारियों की गाज गिर गई। मानक पूरे न होने पर शनिवार को लाव लश्कर के साथ पहुंचे अधिकारियों ने हापुड़ रोड स्थित तान्या मीट प्लांट को सील कर दिया।

शनिवार को एसडीएम सदर कमलेश गोयल और मेरठ विकास प्राधिकरण के तहसीलदार करणवीर सिंह विभागीय कर्मचारियों और कई थानों की फोर्स के साथ हापुड़ रोड स्थित हाजी शादाब कुरेशी के मीट प्लांट पर पहुंचे। पुलिस प्रशासनिक अधिकारियों ने बिना कोई देरी किए सभी कर्मचारियों को मीट प्लांट से बाहर करते हुए प्लांट के विभिन्न विभागों को सील करना शुरू कर दिया। इससे मीट प्लांट के कर्मचारियों में हड़कंप मच गया।

प्राधिकरण की टीम ने कुछ ही देर में पूरे मीट प्लांट को सील कर दिया। अधिकारियों का कहना है कि मानक पूरे नहीं होने पर मीट प्लांट को सील किया गया है। इसी के साथ यदि अब मीट प्लांट में काम किए जाने की शिकायत मिलती है तो संबंधित लोगों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी।


Share it
Top